आईएएस दम्पती का ट्रांसफर एक साजिश : मेनका गांधी

बदायूं। भारतीय जनता पार्टी सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि आईएएस खेरवाल दम्पती को साजिश के तहत दिल्ली से हटाया गया है।

दिल्ली के एक स्टेडियम मे कुत्ता टहलाने के चलते सुर्खियों मे आए खेरवाल दम्पती के लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश ट्रांसफर किए जाने के सवाल पर मेनका गांधी ने कहा कि मैं आईएएस खेरवार को को अच्छी तरह से जानती हूं। इन पर जो आरोप लगे है वह बिल्कुल झूठे हैं। वे बहुत ही काबिल अधिकारी हैं।

जब वह दिल्ली में सेक्रेटरी ऑफ इन्वायरमेंट थे तो दिल्ली को उनसे बहुत फायदा हुआ था। वह लोगों की बात सुनते हैं और उन पर कार्रवाई भी करते हैं। इसीलिए उस पर जो कार्यवाही की गई है वह बिल्कुल गलत है।

दूसरा यह है कि लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश यह ऐसी जगह नहीं है जो पनिशमेंट पोस्टिंग का मुद्दा बनाया जाएं। इन प्रदेशो में भी काबिल लोगों की जरूरत है। ऐसी जगह जहां लोग खुशी-खुशी चले जाते हैं।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के स्टेडियम खाली कराकर उसमें में कुत्ता टहलाने की शिकायत पर केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार में प्रमुख सचिव संजीव खेरवार को लद्दाख और उनकी पत्नी आईएस रिंकू धुग्गा को अरुणाचल प्रदेश पोस्टिंग दी गई है। जिसे पनिशमेंट के तौर पर माना जा रहा है।

भाजपा सांसद ने सरकार की गई कार्रवाई पर नाराजगी जताते हुए कहा कि यह तरीका क्या हुआ कि किसी को उठाकर यहां फेंक दिया, वहां फेंक दिया। यह हमें शोभा नहीं देता है, जिसने भी यह बोला है कि उनका यहां ट्रांसफर होना ही नहीं चाहिए था। इससे दिल्ली का नुकसान हुआ है साजिश के तौर पर उसको निकाला गया है।

मेनका गांधी आज भाजपा के पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह उर्फ पप्पू भैया का स्वास्थ्य जानने उनके आवास पर पहुंची थी। पप्पू भैया के मेनका गांधी पारिवारिक रिश्ते हैं। वह लंबे से समय से बीमार चल रहे हैं। कुछ समय रुकने के पश्चात वे बरेली को रवाना हो गई।