गुना में खड़े कंटेनर से टकराकर मिनी बस में लगी आग, 3 की मौत

गुना। मध्यप्रदेश के गुना जिले के चांचौड़ा थाना क्षेत्र में आज तड़के एक कंटेनर और मिनी बस की टक्कर के बाद बस में आग लग गई, जिससे उसमें सवार तीन लोगों की घटना स्थल पर ही जलकर मृत्यु हो गई, जबकि 17 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार चांचौड़ा थाना क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग पर बरखेड़ा गांव के समीप सड़क किनारे खड़े एक कंटेनर से मिनी बस टकरा गई। दुर्घटना के बाद बस में आग लग गई, जिससे उसमें सवार 3 लोगों की जलने से मौत हो गई, जबकि 17 लोग को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

मृतकों की पहचान 20 वर्षीय माधौ शर्मा निवासी कन्नौद जिला देवास, 19 वर्षीय रोहित शर्मा निवासी इंदौर, 13 वर्षीय दुर्गा शर्मा के रुप में हुई है। तीनों के शव कंकाल में बदल गए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंच गए।

इस दुर्घटना पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शोक संवेदना व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से दिवगंत आत्माओं की शांति, शोकाकुल परिजनों को दुःख सहन करने की शक्ति देने एवं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना की है। उन्होंने घायलों के बेहतर उपचार और पीड़ित परिवार की उचित सहायता के निर्देश भी दिए हैं।

भोपाल : दुकान में लगी आग, पाया गया काबू

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बैरागढ़ की एक दुकान में आग लग गई, जिससे उसमें रखा सामान जलकर नष्ट हो गया। घटना के बाद आग पर काबू पा लिया गया है।

दमकल विभाग के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार कल रात्रि बैरागढ़ में बाजार की एक जनरल स्टोर की एक दुकान में अचानक आग लग गई। घटना की सूचना के बाद दमकल वाहन मौके पर पहुंचे, जिसके बाद आग पर काबू पा लिया गया।

हालांकि आग लगने के स्पष्ट कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस ने इस मामले में प्रकरण दर्ज कर लिया है। वहीं, आग से हुए नुकसान का भी आंकलन किया जा रहा है।

शिवपुरी : धर्मशाला में लगी आग, बड़ा हादसा टला

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिला चिकित्सालय परिसर में स्थित रेड क्रॉस सोसाइटी द्वारा संचालित धर्मशाला में ऊपरी हिस्से में रखी घास में अचानक आग भड़क गई, जिस पर दमकल कर्मचारियों द्वारा समय रहते आग पर काबू पा लिया गया, जिससे एक बड़ा हादसा होने से टल गया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कल दीपावली के अवसर पर चलाए गए पटाखों राकेट आदि के गिरने से संभवत यह आग ऊपरी हिस्से में छत पर लगी। सूत्रों ने बताया कि इस धर्मशाला में पहले कुपोषित बच्चों के लिए एनआरसी संचालित की जाती थी। इसके अलावा जरूरतमंदों के लिए यहां अंतिम संस्कार का सामान भी रखा गया है। जिसमें घास लकड़ी आदि शामिल है। उसी घास में आग अचानक लगी, जो तेजी से फैलने लगी।

दमकल कर्मियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पा लिया, जिससे एक बड़ा हादसा होने से बच गया। इस धर्मशाला में नीचे बड़ी बड़ी दुकानें भी हैं तथा शहर के व्यस्त मार्केट में से यह एक स्थान है।