स्तन कैंसर से छुटकारा पाने के उपाय

Treatment of breast cancer in hindi
Treatment of breast cancer in hindi

महिलाओं को अनेक प्रकार के समस्याओं का सामना करना पड़ता है ऐसे में स्तन की बीमारी भी ऐसी समस्या जो महिलाओं को मौत के मुंह में डाल देती है यदि महिलाएं स्तन की तरीके से देखभाल नहीं की जाए तो इस तन से जुड़ी अनेक रोगों का सामना करना पड़ सकता है जैसे स्तन कैंसर स्तन कैंसर में को हटाया जा सकता है इसी कारण उनकी देखभाल कार्ड अत्यंत जरूरी है तो आइए जानते हैं स्तन कैंसर संबंधित समस्या वह उनके उपचार

रिसर्च के अनुसार पता चला है कि महिलाओं के स्तन में नोन फैक्ट टिशूज ज्यादा पाए जाते हैं जिसके कारण उन्हें ट्यूमर होने का खतरा ज्यादा हो जाता है अर्थात यह समस्या उनको होती है जिनकी ब्रा साइज ज्यादा होती है

स्तन कैंसर 40 से 50 वर्ष की महिलाओं को ज्यादा होता है अधिकांश महिलाएं इस उम्र में शरीर को लेकर कई लापरवाही करती है जिससे स्तन कैंसर होने का खतरा हो जाता है महिलाओं को युवावस्था में एक बार स्तन कैंसर की जॉर्ज अवश्य करा लेना चाहिए

50 वर्ष की आयु में महिलाओं को स्तन कैंसर के समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं इसी कारण इस उमर में कम से कम 3 महीने में एक बार इसकी जांच अवश्य कराना चाहिए

वक्ष में दर्द ऋतुस्त्राव अवधि को नियंत्रित करने वाले हार्मोनों द्वारा होती है हार्मोन के परिवर्तन के कारण ऋतुस्त्राव अवधि के आरंभ में दोनों स्तनों में दर्द हो सकता है इसे चक्रीय स्तन दर्द कहते हैं

देखने में स्तन की गांठ का पता नहीं लगाया जा सकता है परंतु जांच में ही थोड़ा पता लगाया जा सकता है की घाट स्तन कैंसर के कारण बनी है क्योंकि 20 से 50 वर्ष की महिलाओं में स्तन की गांठ फ़ीसदी कैंसर जनक नहीं होती है