त्रिपुरा : मारे गए आएसएस के कार्यकर्ताओं के शवों को खोजा जाएगा

tripura governor tathagata roy hints about probe into abduction, murder of RSS leaders
tripura governor tathagata roy hints about probe into abduction, murder of RSS leaders

अगरतला/नई दिल्ली। त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत रॉय ने उग्रवादी हिंसा में मारे गए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ताओं को आज श्रद्धांजलि दी और कहा कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में गठित होने वाली नई सरकार से इन कार्यकर्ताओं के शवों को तलाशने के लिए कहा जाएगा।

रॉय ने वरिष्ठ आरएसएस कार्यकर्ता श्यामलकांति सेनगुप्ता, सुधामय दत्त, दिनेंद्र देव तथा शुभांकर चक्रवर्ती का उल्लेख करते हुए ट्वीटर पर अपने संदेश में लिखा कि कई साल पहले त्रिपुरा में उग्रवादियों द्वारा अपहृत कर मारे चार स्वयंसेवक याद होंगे। उनमें से मैं श्यामल दा और सुधामय को बहुत अच्छी तरह से जानता था। नई सरकार को उनके अवशेषों को खोजने के लिए कहा जाएगा।

गौरतलब है कि वर्ष 1999 में नेशनल लिबरेशन फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (एनएलएफटी) पर राज्य के चार वरिष्ठ आरएसएस कार्यकर्ताओं के अपहरण और हत्या में शामिल होने का आरोप लगा था। आरएसएस ने संघ प्रचारकों के अपहरण के लिए कुछ धार्मिक संगठनों को भी दोषी ठहराया था।

यह भी पढें
…आज याद आ रहा वो बलिदान
त्रिपुरा में भाजपा ने ढहाया वाम किला, कांग्रेस का सूपडा साफ