सोलन में पपीते के पत्तों का काढा पीने से दो बच्चों की मौत

शिमला। हिमाचल प्रदेश में सोलन जिले के नालागढ़ क्षेत्र के जोघों में एक प्रवासी महिला के दो बच्चों की कथित पपीते के पत्तों का काढ़ा पीने से मौत हो गई तथा एक अन्य को गंभीर हालत में पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती कराया गया है।

बताया जा रहा है कि कल बच्चों को कुछ समय से बुखार था और उन्होंने यू ट्यूब पर नुस्खा देखकर पपीते के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीया था। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। डीएसपी नवदीप सिंह ने मामले की पुष्टि की है।

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के बदायूं के खजूरिया गांव की राम देवी पिछले सात साल से जोघों में रहकर मजदूरी कर परिवार पाल रही है। महिला की दो बेटियां और एक बेटा था। इनमें एक बेटी और एक बेटे की मौत हो गई, जबकि दूसरी बेटी पीजीआई में भर्ती है।

प्रवासी महिला के भतीजे सचिन ने बताया कि बच्चों को कुछ समय से बुखार था और उन्होंने यू ट्यूब पर इसके इलाज के लिए पपीते का काढ़ा बनाकर पीने का नुस्खा देखा था। इसके बाद बच्चे भी पपीते के पत्ते लाए और कूटकर काढ़ा बनाकर पी लिया।

इसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई। तीनों को नालागढ़ अस्पताल लाया गया। जहां शिवानी (10) की मौत हो गई और उसके भाई सचिन (18) ने पीजीआई में दम तोड़ा। वहीं बहन खुशबू (14) को बेहोशी की हालत में पीजीआई उपचार चल रहा है। शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस छानबीन कर रही है।