बैंक सर्वर को हैक कर 30 लाख की चोरी में दो विदेशी महिलाएं अरेस्ट

जयपुर/उदयपुर। बैंक के एटीएम से जुड़े सर्वर तंत्र में यंत्र लगा सर्वर हैक कर 32 लाख रूपए की ठगी करने वाले गिरोह का एसओजी ने खुलासा कर दो विदेशी महिलाओं को आज उदयपुर में गिरफ्तार किया।

एटीएस एवं एसओजी के अतिरिक्त महानिदेशक अशोक राठौड़ ने बताया कि गिरफ्तार महिलाओं की पहचान नानटोंगो एलेकजेन्ड्रस निवासी यूगान्डा एवं लोरा कैथ निवासी गाम्बिया है। दोनों को उदयपुर से जयपुर लाया जा रहा है। जिनसे अग्रिम पूछताछ के बाद नए तथ्य प्राप्त होने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि 26 जुलाई को महेश नगर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के शाखा प्रबन्धक ललित कुमार सुतवाल ने साईबर क्राईम पुलिस थाना एसओजी पर एक लिखित रिपोर्ट दी। जिसमे बताया कि किसी ने उनके एटीएम सिस्टम को हैक कर बैंक सर्वर के माध्यम से किसी यंत्र के जरीये कोड बदल कर 16 से 18 जुलाई के बीच 32 लाख रूपए एटीएम से निकाल लिए। इस पर थाना साईबर क्राईम एसओजी जयपुर में धोखाधड़ी व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया।

उन्होंने बताया कि उपलब्ध साक्ष्यों के विष्लेषण व तकनिकी विधियों का प्रयोग करते हुये संदिग्ध महिलाओं के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की गई। एसओजी के डीआईजी शरत कविराज के निर्देशन में सम्भावित स्थानों पर निगरानी शुरू की गई।

इस दौरान उदयपुर में सुखेर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के एक एटीएम केन्द्र पर संदिग्ध महिलाओं की गतिविधि ज्ञात हुई। जिस पर वहां के स्थानीय पुलिस एवं बैंक के सहयोग से महिलाओं को दस्तयाब किया गया। साईबर क्राईम पुलिस थाना एसओजी जयपुर से पुलिस निरीक्षक उम्मेद सिंह के नेतृत्व में एक दल उदयपुर भेजा गया है जो दोनों महिलाओं को लेकर जयपुर के लिए रवाना हो गए है।