डोंबिवली में नाबालिग लडकी से गैंगरेप मामले में दो और अरेस्ट

मुंबई। मुंबई से सटे ठाणे जिले के डोंबीवली में नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने ठाणे जिले से दो और संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक कुल 28 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि पांच संदिग्ध अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

मामले में जांच दल की प्रमुख सहायक पुलिस आयुक्त सोनाली ढोले ने एक बयान में कहा कि 33 में से 28 लोग अब तक गिरफ्तार हो चुके हैं। गुरूवार तक इस मामले में पुलिस ने 26 आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

जिसमें दो नाबालिग शामिल हैं। ढोले ने पहले दावा किया था कि उन्होंने अब तक
मामले में 29 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है लेकिन आरोपियों की संख्या बढ़ सकती है।

पुलिस ने कहा कि इस मामले में मुख्य आरोपी विजय फुके है, जो पीड़िता का दोस्त है। इस मामले के आरोपी फुके ने इस साल जनवरी में पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया और एक वीडियो बनाया, वीडियो का इस्तेमाल कर उसने पीड़िता को ब्लैकमेल करना शुरू किया और अपने साथियों के साथ दुष्कर्म करने के लिए मजबूर करता रहा।

मनपाड़ा गैंगरेप : शिवसेना नेता का बेटा भी शामिल

ठाणे में नाबालिग से पिछले आठ महीनों में कई बार सामूहिक दुष्कर्म (गैंगरेप) के मामले में पुलिस ने शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता के बेटे को भी गिरफ्तार किया गया है।

पीड़िता ने प्राथमिकी में बताया कि पिछले आठ महीनों में अलग-अलग जगहों पर आरोपियों ने उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। सामूहिक दुष्कर्म (गैंगरेप) की खबर से डोंबिवली में हड़कंप मचा है।

पुलिस ने बताया गिरफ्तार लोगों में बोपर देसलेपाड़ा मंडल साखा प्रमुख संतोष परशुराम माली का पुत्र गौरव संतोष माली भी शामिल हैं। आरोपियों पर 15 वर्षीय नाबालिग लड़की से गैंगरेप, प्रताड़ित करने और फिर उसे सड़क पर फेंकने का आरोप है।