कानपुर में पति-पत्नी का झगडा सुलझाने गई पुलिस पर हमला

कानपुर देहात। उत्तर प्रदेश में कानपुर देहात के रसूलाबाद क्षेत्र में पति पत्नी के बीच विवाद को सुलझाने गए पुलिसकर्मियों पर परिजनों ने हमला कर दिया। इस हमले में चौकी इंचार्ज और हेड कांस्टेबल घायल हो गए।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस पर हमले की जानकारी होते ही कई थानों की फोर्स भी मौके पर पहुंच गई और गंभीर रूप से घायल चौकी इंचार्ज व सिपाही को उपचार के लिए सीएससी लेकर आई जहां डॉक्टरों ने चौकी इंचार्ज व हेड कांस्टेबल की स्थिति को गंभीर बताते हुए कानपुर रेफर कर दिया।

इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि चौकी इंचार्ज की स्थिति गंभीर है और वही हेड कांस्टेबल को हल्की फुल्की चोट आई है और अब पूरी तरीके से सामान्य है।

सूत्रों ने बताया कि रसूलाबाद के अंतर्गत पड़ने वाले गांव भीखदेव में शनिवार देर रात पति पत्नी के बीच हो रहे विवाद की जानकारी होते ही चौकी इंचार्ज गजेंद्र पाल सिंह और हेड कांस्टेबल समर सिंह विवाद को सुलझाने के लिए गांव में गए थे। इस दौरान पीड़ित महिला शाह बेगम का पति रफीक व उसके परिजन चौकी इंचार्ज के साथ धक्का-मुक्की व अभद्रता करने लगे।

चौकी इंचार्ज ने जब मना किया तो रफीक व उसके परिजन हमलावर होकर ईट-पत्थर चलाने लगे। जब तक पुलिस वाले कुछ समझ पाते तब तक ईट पत्थर की चपेट में आकर चौकी इंचार्ज गजेंद्र पाल सिंह और हेड कांस्टेबल समर सिंह बुरी तरीके से घायल हो गए। पुलिस वालों पर हो रहे हमले की जानकारी उच्च अधिकारियों को मिली तो अधिकारियों के निर्देश पर भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया लेकिन इस दौरान हमलावर मौका पाकर फरार हो गए।

पुलिस ने घायल चौकी इंचार्ज गजेंद्र पाल सिंह और हेड कांस्टेबल समर सिंह को प्राथमिक उपचार के लिए सीएससी ले गए जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार देतेेे हुुए दोनो ही पुलिसकर्मी को कानपुर के रीजेंसी हॉस्पिटल भेज दिया। कानपुर पहुंचेे पुलिस कर्मियों का इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया कि चौकी इंचार्ज को हेड इंजरी हुई है लेकिन खतरे से बाहर है जबकि हेड कांस्टेबल की चोटें सामान्य है।

कानपुर देहात के अपर पुलिस अधीक्षक घनश्याम ने बताया कि पुलिस पर हमला करने वालों को बख्शा न नहीं जाएगा। उनके खिलाफ कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।