ओम बिड़ला का लोकसभा अध्यक्ष बनना तय

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के ओम बिड़ला का 17वीं लोकसभा का अध्यक्ष बनना तय हो गया है। लोकसभा अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन की अंतिम समय सीमा तक केवल बिड़ला ने ही नामांकनपत्र दाखिल किया है।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक दलों के अलावा बीजू जनता दल, अन्नाद्रमुक, अपना दल और वाई एसआर कांग्रेस समेत दस दलों ने बिड़ला की लोकसभा अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी का समर्थन किया है।

मंगलवार को पूर्वाह्न बिड़ला ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी, लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान तथा सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक दलाें के प्रमुख नेता मौजूद थे। नामांकन के बाद बिड़ला ने निवर्तमान लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से शिष्टाचार भेंट की।

लोकसभा सचिवालय सूत्रों के अनुसार आज दोपहर 12 बजे नामांकन दाखिल करने की अंतिम समय सीमा थी। उस समय तक बिड़ला का ही नामांकन पत्र दाखिल किया गया। कांग्रेस या विपक्ष की ओर से किसी सांसद ने इस पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया है। लोकसभा में सबसे बड़े विपक्षी दल कांग्रेस ने भी बिड़ला की उम्मीदवारी के समर्थन में प्रस्ताव दिया है। इससे बिड़ला का अध्यक्ष बनना तय हो गया है।

बुधवार को सदन में अस्थायी अध्यक्ष लोकसभा अध्यक्ष के पद के लिए चुनाव की प्रक्रिया आरंभ करेंगे। सदन के नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रस्ताव करेंगे कि बिड़ला को 17वीं लोकसभा का अध्यक्ष चुना जाए। इस प्रस्ताव का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अथवा गृह मंत्री अमित शाह अनुमोदन करेंगे। कुछ अन्य प्रस्ताव भी पेश किए जा सकते हैं।

अस्थायी अध्यक्ष समय सीमा के अंदर प्राप्त प्रस्तावों को पढ़ेंगे तथा पहले प्रस्ताव को मतदान के लिए सदन में रखेंगे। एक ही नामांकन होने की दशा में प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित किया जाएगा। तत्पश्चात अस्थायी अध्यक्ष लोकसभा अध्यक्ष के निर्वाचन की घोषणा करेंगे और उन्हें आसन ग्रहण करने के लिए आमंत्रित करेंगे।

इसके बाद प्रधानमंत्री, सदन में उपनेता राजनाथ सिंह, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी एवं राजग के घटक दलों एवं अन्य दलों के नेता बिड़ला को अध्यक्ष के आसन तक ले जाएंगे और उन्हें आसीन कराएंगे। संसदीय कार्य मंत्री जोशी अस्थायी अध्यक्ष का औपचारिक रूप से आभार व्यक्त करेंगे और फिर प्रधानमंत्री सर्वसम्मति से अध्यक्ष के चुनाव के लिए सभी दलों काे धन्यवाद ज्ञापित करेंगे। बाद में अन्य नेतागण भी लोकसभा अध्यक्ष के सम्मान में अपने विचार व्यक्त करेंगे।

बिड़ला दूसरी बार लोकसभा में चुनकर आए हैं। उनका जन्म चार दिसम्बर 1962 को राजस्थान के कोटा में हुआ था। हिंदी, अंग्रेजी और संस्कृत के जानकार बिड़ला ने स्नातकोत्तर (वाणिज्य) तक की शिक्षा राजकीय कॉमर्स कालेज कोटा में ली। वह वर्ष 1979 से 12 साल तक छात्र यूनियन के अध्यक्ष रहे। इसके बाद वह वर्ष 2003, 2008 एवं 2013 में 12वीं, 13वीं एवं 14वीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य रह चुके हैं।