रात को रक्तदान करने पहुंचे दो युवा, बचाई प्रसूता की जान

आबूरोड। प्रसव पीड़ा से जूझ रही एक प्रसूता के लिए रात 12 बजे एक साथ दो युवकों ने किया रक्तदान कर उसकी जान बचाने में अहम भूमिका निभाई। युवकों प्रसूता के बारे में जानकारी व्हाट्सअप ग्रुप के जरिए मिली थी।

आबूरोड के निचलागढ़ ग्राम पंचायत के वेराफली की प्रसूता सोमी पत्नी ताराराम गरासिया को प्रथम प्रसव से पूर्व प्रसूति चिकित्सक द्वारा बी पॉजिटिव रक्त की आवश्यकता बताई गई। इस बाबत एक पोस्ट सोशल ग्रुप में डाली गई।

रात्रि करीब 12 पहले दो युवकों ने इस जानकारी को अपने स्टेटस पर साझा किया और फिर रात में ही रक्तदान केंद्र ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए। प्रसूता की प्रसव पीड़ा की घड़ी में दोनों युवकों रताराम पुत्र मोरसाराम सोलंकी गरासिया व संजय सोलंकी पुत्र हंसाराम सोलंकी गरासिया का अमूल्य योगदान रहा।

युवकों ने बताया कि व्हाट्सएप ग्रुप की खबर की जानकारी मिलने के बाद दोनों ने पहले तो सूचना को स्टेटस पर लिया, फिर दोनों की आपस में बातचीत हुई। प्रसूता के पति के मोबाइल नंबर पर बात होने पर दोनों ही आकरा भट्टा से तलहटी रक्तदान केंद्र तक पैदल ही जा पहुंचे। दोनों युवकों ने एक साथ दो यूनिट रक्तदान किया।