आईसीसी ने यूएई के तेज गेंदबाज कादिर अहमद पर लगाया 5 साल का बैन

दुबई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने संयुक्त अरब अमीरात के तेज गेंदबाज कादिर अहमद पर उसकी भष्ट्राचार रोधी संहिता के छह नियमों के उल्लंघन को लेकर पांच साल का प्रतिबंध लगाया है। इस दौरान वह किसी भी तरह से क्रिकेट के साथ कोई संपर्क नहीं रख पाएंगे। प्रतिबंध की अवधि की शुरुआत अक्टूबर 2019 से की जाएगी, जब कादिर को अस्थायी रूप से निलंबित किया गया था।

कादिर के खिलाफ अप्रैल 2019 में जिंबाब्वे सीरीज सहित कई मौकों पर भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने संबंधी आरोपों को लेकर आईसीसी की एंटी करप्शन यूनिट (एसीयू) के पास रिपोर्ट न करने को लेकर अपराध दर्ज है।

कादिर को अगस्त 2019 में एक टूर्नामेंट की आंतरिक जानकारी साझा करने और एक जांच के दौरान एसीयू के साथ सहयोग न करने, जांच में बाधा डालने और इसमें देरी करने संबंधी अनुच्छेद के उल्लंघन का भी दोषी पाया गया है।

आईसीसी की इंटेग्रिटी यूनिट के महाप्रबंधक एलेक्स मार्शल ने बुधवार को कहा कि कादिर अहमद एक अनुभवी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने भ्रष्टाचार-रोधी प्रशिक्षण प्राप्त किया है। उन्हें उन लोगों से बचना चाहिए था, जिनके बारे में उन्हें अच्छी तरह से पता था कि ये भ्रष्ट हैं और किसी भी संदेह की सूचना तुरंत देनी चाहिए थी।

उन्होंने अपनी गलती स्वीकार की है और अधिकरण के बजाय एक प्रतिबंध का अनुरोध किया है। पांच साल के लिए हर प्रकार के क्रिकेट से प्रतिबंधित होना उनके द्वारा किए गए अपराधों की गंभीरता को दिखाता है।

35 वर्षीय आदिल ने यूएई के लिए 11 वनडे और 10 टी-20 मुकाबले खेले हैं। उन्होंने अगस्त 2019 में अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेला था।