अमरीकी सैनिकों की वापसी के बाद काबुल हवाई अड्डे पर पहली बार उतरा विदेशी विमान

काबुल। अफगानिस्तान से अमरीकी सैनिकों की पूर्ण वापसी के बाद पहली बार खाद्य आपूर्ति से लदा संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का एक विमान काबुल के हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा है। यह 31 अगस्त के बाद अफगानिस्तान के हवाई अड्डे पर उतरने वाला पहला विदेशी विमान है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने शुक्रवार को कहा कि संयुक्त अरब अमीरात का एक विशाल विमान 60 टन भोजन लेकर आज काबुल हवाई अड्डे पर उतरा। यूएई से भेजी गयी खाद्य सहायता का पहुंचना अफगानी नागरिकों के लिए अच्छी खबर है। हम अफगानियों के समर्थन के लिए बंधु राष्ट्र यूएई के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि इस्लामिक अमीरात सभी देशों से अफगानिस्तान को अपना समर्थन जारी रखने का आग्रह करता है।

गौरतलब है कि 15 अगस्त को तालिबान द्वारा काबुल पर कब्जा किए जाने के बाद से यह हवाई अड्डा अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानों के लिए बंद था। अमरीकी नेतृत्व वाली अंतिम निकासी उड़ान की रवानगी के बाद तालिबान बलों ने 31 अगस्त को हवाई अड्डे पर नियंत्रण कर लिया।

मुजाहिद ने बताया कि तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और कतर से तकनीकी दल और विशेषज्ञ पहले ही आ चुके हैं तथा हवाई अड्डे से संचालन शुरू करने के लिए अफगानिस्तान की मदद रहे हैं। हवाई अड्डे से अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानें जल्द ही फिर से शुरू होंगी।

उन्होंने कहा कि हवाईअड्डा जल्द ही संचालन के लिए तैयार हो जाएगा। दुर्भाग्य से, अमरीकी सैनिकों ने हवाई अड्डे के कुछ हिस्सों को क्षतिग्रस्त कर दिया है और अब कतर और यूएई के समर्थन से उनकी मरम्मत की जा रही है। हवाई अड्डा बहुत जल्द लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। इस बीच, हालांकि काबुल स्थित हवाई अड्डे से मजार-ए-शरीफ के लिए शुक्रवार को प्रस्तावित पहली घरेलू उड़ान रद्द कर दी गई।