नारायण राणे ने शिवसेना पर तीखे हमले के साथ पूरी की ‘जन आशीर्वाद यात्रा’

कोल्हापुर। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ के अंतिम दिन रविवार को शिवसेना पर तीखा हमला बोला और कहा कि यदि प्रतिशोध की राजनीति जारी रही तो निजी रहस्य भी उजागर किए जाएंगे।

राणे ने सिद्धुदुर्ग जिले के वेंगुर्ला-डोडामार्ग में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यात्रा की योजना महाराष्ट्र के साथ-साथ कोंकण जिलों के विकास के लिए बनाई गई थी। उन्होंने कहा कि शिवसेना द्वारा राजनीतिक यात्रा को बाधित करने की पूरी कोशिश किए जाने के बावजूद यात्रा को जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। उन्होंने कहा कि अगर शिवसेना उनके परिवार पर हमला करती रही, तो वह भी आक्रामक तरीके से जवाब देंगे।

उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के इस बयान पर निशाना साधते हुए कि राणे के एमएसएमई पोर्टफोलियो को धन की कमी का सामना करना पड़ रहा है, उन्होंने कहा कि पहले महाराष्ट्र के खजाने की जांच करें, क्योंकि राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार हमेशा केंद्र से धन की मांग करते रहे हैं।

राणे ने राजनीतिक संयम बरतने की चेतावनी देते हुए बताया कि कैसे अजीत पवार ने ‘घोटाले की जांच में क्लीन चिट’ पाने के लिए देवेंद्र फडणवीस के साथ रात में शपथ ली थी।

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में शिवसेना सांसद संजय राउत द्वारा लिखे गए व्यंग्यात्मक संपादकीय पर निशाना साधते हुए, राणे ने यहां तक चेतावनी दे दी कि वह भी राणे प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड के स्वामित्व वाले दैनिक ‘प्रहार’ के माध्यम से बदनाम करने वाला एक अभियान शुरू करेंगे।

उन्होंने क्षेत्रीय समाचार चैनल से बातचीत में जोर देकर कहा कि राउत के तीखे संपादकीय उनकी पार्टी के लिए अच्छे नहीं हैं और कहा कि वह (राणे) इस तरह की खोखली आलोचना से बेफिक्र रहते हैं।