केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे को रात में मिली जमानत

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के मामले में नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किए गए केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को जमानत मिल गई है।

महाराष्ट्र में रत्नागिरी जिला के महाड की एक अदालत ने मंगलवार की रात राणे को जमानत दी। राणे को अदालत में पेश किए जाने के समय उनकी पत्नी नीलम राणे तथा पुत्र नितेश तथा निलेश राण भी वहां मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि राणे स्वतंत्रता दिवस के बारे में अनभिज्ञता को लेकर मुख्यमंत्री ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी और उन्हें (उद्धव) थप्पड़ मारने की बात कही थी। इस सिलसिले में पुलिस ने उन्हें मंगलवार अपराह्न में संगमेश्वर गिरफ्तार किया था और इसके बाद उन्हें महाड में मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया था, जहां से उन्हें (राणे) को जमानत मिल गई।

पेशी के दौरान सरकारी वकील ने राणे को सात दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेजने की मांग की, जबकि बचाव पक्ष के वकील ने इसका विरोध किया और कहा कि राणे की गिरफ्तार पूरी तरह से अवैध है तथा जमानत पर रिहा किया जाना चाहिए। दोनों पक्ष के वकीलों की दलील सुनने के बाद प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट बाबासाहेब शेख पाटिल ने बचाव पक्ष की दलील को स्वीकार करते हुए राणे को जमानत दे दी।