वोटबैंक और तुष्टीकरण की राजनीति कर रही है गहलोत सरकार : चौधरी

बाडमेर। केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने संघ के क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम पर मुकदमा दर्ज करने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश की गहलोत सरकार पर अपनी विफलताओं को छुपाने एवं जनहित के मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने के लिए सरकारी एजेंसियों के बेजा इस्तेमाल कर रही है।

चौधरी ने कहा कि संघ के प्रचारक का जीवन समर्पण और सादगी की मिसाल होता है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम के खिलाफ रचा गया षड्यंत्र दुर्भाग्यपूर्ण एवं अस्वीकार्य है। निम्बाराम का संपूर्ण जीवन समाज और देश के लिए समर्पित रहा है, उन पर ऐसे लांछन लगा लगाकर प्रदेश की सरकार निम्न स्तर की राजनीति का परिचय दे रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक देशभक्त और सेवाभावी सांस्कृतिक संगठन को बदनाम करने का षड़यंत्र कभी सफल नहीं होगा। उन्होंने गहलोत सरकार पर द्वेष और प्रतिशोध की राजनीति का आरोप लगाते हुए कहा कि एक झूठा वीडियो बनाकर संघ प्रचारक को फंसाने का षड्यंत्र कांग्रेस ने किया है। अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए कांग्रेस ऐसी झूठी कहानी रच रही है।

चौधरी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का और उसमें जुडें लोगों का इतिहास हमेशा सेवा, समर्पण और संयम का रहा है, उन्हें कांग्रेस जैसी भ्रष्ट पार्टी के प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है। गहलोत सरकार पर अपनी नाकामी छिपाने के लिए भाजपा और संघ को बदनाम किए जाने का आरोप लगाते हुए कैलाश चौधरी ने कहा कि वोटबैंक और तुष्टीकरण की राजनीति के चलते ऐसा किया जा रहा है।