दिवालिया होने के कगार पर पहुंचा संयुक्त राष्ट्र संघ

United Nations on the verge of bankruptcy
United Nations on the verge of bankruptcy

संयुक्त राष्ट्र संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि संघ नकदी की गंभीर संकट से जूझ रहा है और जब तक विश्व की कई सरकारें अपनी बकाया राशि चूकता नहीं करती तब तक सुधारात्मक कार्यों पर ग्रहण लगा रहेगा।

गुटेरेस के प्रवक्ता ने मंगलवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी। बयान में कहा गया है कि महासचिव ने बकाया राशि देने के लिए सदस्य देशों को पत्र लिखा है कि ,“ संयुक्त राष्ट्र संघ करीब एक दशक के सबसे खराब संकट के दौर से गुजर रहा है। जो पैसे रिजर्व में रखे गये हैं वे इस माह के अंत तक खत्म हो जायेंगे और हम अपने स्टाफ और वेंडर्स को वेतन देने की स्थिति में नहीं रहेंगे।”

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने न्यूयार्क में नियमित प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पत्रकारों को बताया कि 193 देशों में से 129 ने नियमित वार्षिक भुगतान कर दिया है। सीरिया ने हाल ही में भुगतान किया है और शेष देशों से उम्मीद की जा रही है कि वे यथाशीघ्र पूर्ण भुगतान कर देेंगे जिसकी सख्त जरुरत है।

डुजारिक ने कहा कि सदस्य देश समय से भुगतान कर देते हैं तो नकदी की संकट से बचा जा सकता है और वैश्विक स्तर पर चलाये जा रहे संयुक्त राष्ट्र के अभियान में रुकावट नहीं आयेगी।