जींद में किशोरी बनी बिन ब्याही मां, भाई के साले की गंदी करतूत

जींद। हरियाणा में जींद की एक किशोरी ने पीजीआई रोहतक में एक बालिका को जन्म दिया है और इस अपराध के लिए उसने उसके भाई के साले पर आरोप लगाया है।

सिविल लाइन थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर रिश्तेदार के खिलाफ बहला-फुसलाकर यौन शोषण करने, पाॅक्सो एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सिविल लाइन थाना इलाके की लगभग 14 वर्ष की किशोरी को प्रसव पीड़ा के कारण सामान्य अस्पताल लाया गया। परिजनों ने हालांकि उम्र को छुपाया और उसे 19 वर्ष की बताया।

चिकित्सकों को संदेह होने पर किशोरी की हालात को देखते हुए पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया और साथ ही घटना की सूचना सिविल लाइन थाना पुलिस को दी। इसी बीच पीजीआई में रेफर हुई किशोरी ने वहां पर बालिका को जन्म दे दिया।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि गांव किलोई की एक युवती पीड़िता के परिवार में ही ब्याही है, आरोपी रिश्ते में पीड़िता के भाई का साला लगता है। वह अकसर अपनी बहन के घर यहां आता-जाता रहता था।

उसी दौरान किशोरी के बीच शारीरिक संबध बन गए और जिसके चलते अक्टूबर माह में किशोरी गर्भवती हो गई। उम्र कम होने के कारण किशोरी को गर्भवती होने पर पता नहीं चला। दो दिन पहले किशोरी को पेट दर्द के चलते सामान्य अस्पताल लाया गया तो गर्भवती होने का पता चला और दर्द को प्रसव पीड़ा बताई गई।

सिविल लाइन थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ बहला फुसलाकर यौन शोषण करने, छह पाक्सो एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सिविल लाइन थाना प्रभारी रवींद्र ने बताया कि आरोपी रिश्ते में साला लगता है। पीड़िता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। जच्चा तथा बच्चा दोनों स्वस्थ हैं और पीजीआई में उपचाराधीन हैं। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।