उन्नाव बलात्कार कांड को लेकर तत्कालीन थानाध्यक्ष अरेस्ट

Unnao rape case: CBI arrests Two Uttar Pradesh police sub-inspectors

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बहुचर्चित बलात्कार कांड में केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने माखी थाने के निलंबित प्रभारी और उपनिरीक्षक को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जांच के दौरान सीबीआई को पीडित किशोरी के पिता की हत्या के मामले में कुछ अहम सुराग हाथ लगे है। इसे लेकर जांच एजेंसी के अधिकारियों ने माखी के तत्कालीन थाना प्रभारी अशोक सिंह भदौरिया और उपनिरीक्षक कामता प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

दोनो आरोपियों समेत माखी थाने के छह पुलिसकर्मियों को एसआईटी जांच के बाद पहले ही निलंबित किया जा चुका है। तत्कालीन थानाध्यक्ष के खिलाफ पीडि़त किशोरी के पिता को जेल भेजने के इरादे से ही फर्जी तरीके से तमंचे की बरामदगी दिखाई गई थी।

सीबीआइ दोनों आरोपियों को गुरुवार को विशेष अदालत में पेश करेगी। आरोपित पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी षड्यंत्र, साक्ष्य मिटाने व फर्जी तरीके से आम्र्स एक्ट का मुकदमा लिखे जाने के मामले में की गई है।

उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने बलात्कार और पीडित के पिता की हत्या के आरोप में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई अतुल सेंगर, विधायक की सहयोगी शशि सिंह समेत आठ आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।