राजस्थान विधानसभा में भाजपा विधायकों का हंगामा

Uproar by BJP MLAs Legislative Assembly in Rajasthan
Uproar by BJP MLAs Legislative Assembly in Rajasthan

जयपुर। राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायकों ने कोटा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) कार्यकर्ता पर हमले के मामले पर चर्चा करने की मंजूरी नहीं मिलने पर सदन में हंगामा किया और वेल में आकर धरने पर बैठ गये।

भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी ने स्थगन प्रस्ताव के तहत यह मुद्दा उठाने का आग्रह किया लेकिन अध्यक्ष डा सी पी जोशी ने इसकी अनुमति नहीं दी। इस पर आपत्ति जताते हुए भाजपा विधायक जोर जोर से बोलने लगे और हंगामा शुरू कर दिया। वे वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। जोशी ने भाजपा विधायकों से अपनी सीट पर जाने के लिए कहा लेकिन वे वेल में डटे रहे। उ

भाजपा विधायकों ने संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल पर अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया। उन्होंने धारीवाल को बर्खास्त करने की मांग की। जोशी ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष को बढ़ते अपराध को लेकर बोलने की अनुमति दी, उस समय इस मुद्दे को उठाया जा सकता था। विधायक नहीं माने। हंगामा कम नहीं होता देख अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 12 बजकर 22 मिनट पर आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी गई।

सदन की दुबारा कार्यवाही शुरु होने पर हंगामा जारी रहने पर सभापति राजेन्द्र पारीक ने सदन की कार्यवाही एक बजकर तीस मिनट तक फिर स्थगित कर दी। बाद में डेढ़ बजे सदन की फिर कार्यवाही शुरु होने पर जोशी ने भाजपा विधायकों को उनकी भावना से सदन के नेता को अवगत कराने का आश्वासन देने के बाद गतिरोध टूटा और भाजपा के विधायक अपनी सीटों पर आ गये।