भाजपा ने आजमगढ़ और रामपुर लोक सभा सीट सपा से छीनी

आजमगढ़/रामपुर। उत्तर प्रदेश में रामपुर और आजमगढ़ लोक सभा सीट पर हुए उप चुनाव में रविवार को मतगणना पूरी होने के बाद चुनाव आयोग ने दोनों सीट पर भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को विजयी घोषित किया है। उप चुनाव वाली इन दोनों सीटों पर गत गुरुवार को मतदान हुआ था।

चुनाव आयोग द्वारा शाम को लगभग छह बजे घोषित किए गए चुनाव परिणाम के मुताबिक रामपुर सीट पर भाजपा के उम्मीदवार घनश्याम सिंह लोधी ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मोहम्मद आसिम रजा को 42,192 मतों के लंबे अंतर से शिकस्त दी।

वहीं, आजमगढ़ सीट पर भाजपा के दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने सपा प्रत्याशी धर्मेन्द्र यादव को 8679 मतों से परास्त कर दिया। निरहुआ को 3,12,768 मत मिले, जो कि कुल मतदान का 34.39 प्रतिशत है। जबकि धर्मेन्द्र को 3,04,089 मत (33.44 प्रतिशत) प्राप्त हुए हैं।

इस सीट पर बसपा के उम्मीदवार शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने सपा के लिए मुसीबत खड़ी करते हुए 2,66,210 (29.27 प्रतिशत) वोट हासिल कर चुनावी दौड़ में तीसरा स्थान प्राप्त किया।

गौरतलब है कि 2019 में हुए लोक सभा चुनाव में इन दोनों सीटों पर सपा ने कब्जा जमाया था। आजमगढ़ सीट पर खुद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रामपुर सीट पर सपा के कद्दावर नेता आजम खान चुनाव जीते थे।

गत विधान सभा चुनाव में विधायक बनने पर अखिलेश और आजम ने लोक सभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इस कारण से इन सीटों पर उप चुनाव कराया गया है। भाजपा ने उप चुनाव में सपा की झोली से इन दोनों सीटों को छीन कर 2024 के लिए दूरगामी संदेश मिलने का दावा किया है।

भाजपा ने रामपुर लोक सभा सीट 8 साल बाद और आजमगढ़ सीट 13 साल बाद अपनी झोली में डाली है। आजमगढ़ में भाजपा उम्मीदवार के रूप में रमाकांत यादव ने 2009 में और रामपुर में नेपाल सिंह ने 2014 में भाजपा को जीत दिलाई थी। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की कुल 80 लोक सभा सीटाें में से भाजपा के खाते में अब सीटों की संख्या बढ़कर 64 हो गई है। जबकि सपा की सीटें घटकर तीन रह गई हैं।

उपचुनाव वाली दाेनों सीटों पर कड़े सुरक्षा इंतजामाें के बीच पूर्व निर्धारित समयानुसार सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हुई थी। इस क्रम में पहले पोस्टल बैलेट की गिनती हुई और इसके बाद ईवीएम में पड़े मत गिने गए। गुरुवार को हुए मतदान में आजमगढ़ सीट पर 46.84 प्रतिशत और रामपुर सीट पर 41.01 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

आजमगढ़ सीट पर कुल 18.38 लाख और रामपुर सीट पर 17.06 लाख मतदाता हैं। आजमगढ़ के चुनाव मैदान में एक महिला उम्मीदवार सहित कुल 13 प्रत्याशी थे और रामपुर में छह उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज मतगणना के बाद हो गया। दोनों लोकसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिए 4234 पोलिंग बूथ और 2272 मतदान केन्द्र बनाए गए थे।