उत्तर प्रदेश में जल्द हो सकता है योगी मंत्रिमंडल का विस्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बहुप्रतीक्षित योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होने की संभावना है। भाजपा आलाकमान से हरी झंडी मिलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अगले सप्ताह अपने मंत्रिमंडल में कुछ नये चेहरों को जगह दे सकते हैं।

पार्टी सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि नई दिल्ली में गुरूवार रात योगी के साथ पार्टी की कोर ग्रुप की बैठक में विधान परिषद सदस्यों के नामाकंन और मंत्रिपरिषद विस्तार को लेकर हुई चर्चा के बाद यह संकेत मिले हैं। माना जा रहा है कि भाजपा सदस्यों के साथ गठबंधन के कुछ विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।

योगी ने गुरूवार रात भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह के साथ लंबी बैठक की। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और संगठन महामंत्री सुनील बंसल भी मौजूद थे। बैठक में विधान परिषद की रिक्त चार सीटों के लिए नामांकन के साथ मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल को मंजूरी दी गई।

वर्तमान में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत मंत्रिमंडल के कुल सदस्यों की संख्या 53 है जिसमें 23 कैबिनेट मंत्री, नौ राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 21 राज्यमंत्री शामिल है। मानको के अनुसार मंत्रिमंडल में 60 मंत्रियों को जगह दी जा सकती है, इस लिहाज से सात और मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है।

सूत्रों के अनुसार चार नए विधान पार्षदों में एक या दो को मंत्री पद से नवाजा जा सकता है। निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद,भाजपा में हाल ही में शामिल हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितिन प्रसाद,पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई और एक अति पिछड़ी जाति के एक नेता को विधान परिषद भेजा जा सकता है।