राम मंदिर की भव्यता की जल्द गवाह बनेगी दुनिया : योगी आदित्यनाथ

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर विराजमान रामलला का भव्य मंदिर जल्द बनकर तैयार हो जाएगा जिसकी सुंदरता देश दुनिया देखती रह जाएगी।

मणिराम दास छावनी में श्रीराम सत्संग भवन का लोकार्पण करने के बाद योगी ने शुक्रवार को कहा कि रामलला का भव्य मंदिर जल्द बनकर तैयार हो जाएगा और ऐसा मंदिर बनेगा जो देश दुनिया के लोग देखते रह जाएंगे। अयोध्या का विकास नई ऊंचाई पर जा रहा है। त्रेता युग की अयोध्या का दर्शन सनातन धर्मावलम्बियों को दिखाई दे, यह प्रयास हमने चार साल पहले शुरू किया।

उन्होंने कहा कि दीपोत्सव की भव्यता का अहसास देश दुनिया में करोड़ों रामभक्तों ने किया। 2019 से पहले जब वह अयोध्या आते थे, एक ही आवाज उठती थी कि योगी जी मंदिर का निर्माण कब होगा। मैं लोगों से धैर्य रखने को कहता था आज श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दिव्य और भव्य मंदिर बनकर तैयार हो रहा है। मंदिर जिस दिन बनकर तैयार होगा उस दिन अयोध्या अपने आप को धन्य समझेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या को दुनिया की सुंदरतम अध्यात्मिक नगरी के रूप में विकसित करने के लिए और भी कार्यक्रम यहां अनवरत रूप से चलते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है उसको कोरोना अपनी चपेट में ले रही है। हमें जीवन और जीविका दोनों बचाना है। सब लोग कोरोना प्रोटोकाल का पालन करें। वैक्सीन सब लें वह सुरक्षा के रूप में काम करेगी।

इससे पूर्व योगी आदित्यनाथ ने श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन एवं प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में जाकर माथा भी टेका। इस अवसर पर केन्द्रीय आयुष मंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरू बनने की ओर हैं। वह खुद को सौभाग्यशाली मानते हैं कि प्रभु श्रीराम ने अवसर दिया कि अयोध्या में श्रीराम, हनुमानजी और सीता मइया का आशीर्वाद प्राप्त हुआ। इसके अलावा जीवन में और क्या चाहिए।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने के लिए लगे हुए हैं। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं मणिराम दास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास ने की।

इस मौके पर मणिराम दास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, रंगमहल के महंत रामचरण दास, दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, महंत मैथिली रमण शरण, अधिकारी राजकुमार दास, महंत रामकुमार दास, महंत डा. रामानन्द दास, श्रीराम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य निर्मोही अखाड़ा के महंत दिवेन्द्र दास, ज्ञान सुरजीत सिंह, महन्त देवेन्द्रप्रसन्नाचार्य, जगद्गुरू धराचार्य, विश्व हिन्दू परिषद के पुरुषोत्तम नारायण सिंह, सांसद लल्लू सिंह, नगर निगम अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, अयोध्या विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, शरद शर्मा आदि लोग मौजूद थे।