उत्तर प्रदेश : संपति के विवाद में भांजे ने की माकपा नेता की हत्या

Uttar Pradesh CPI leader killed in property dispute
Uttar Pradesh CPI leader killed in property dispute

SABGURU NEWS | इटावा उत्तर प्रदेश के इटावा में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के जिला मंत्री कामरेड छवि मोहन शुक्ला की संपत्ति विवाद के चलते धारदार हथियार से हत्या कर दी गयी। पुलिस ने इस सिलसिले में आरोपी भांजे को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तर प्रदेश किसान सभा के महामंत्री मुकुट सिंह ने कामरेड शुक्ला  (35) की हत्या की पुष्टि करते हुए आज यहॉ बताया कि कामरेड अपनी बहन के यहॉ पडौसी जिले आगरा के चित्रहाट इलाके के कचौराघाट गांव गये हुए जहॉ पर कल शाम उनके भांजे ने कुल्हाडी मार कर उनकी निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी।

इटावा में बकेवर इलाके के निवासी शुक्ला का भांजे के साथ पैतृक संपत्ति को लेकर विवाद हो गया जिस पर उसमें कुल्हाड़ी से काटकर शुक्ला की निर्मलता पूर्वक हत्या कर दी। बताया गया है कि शुक्ला के पिता रमेश चंद्र शुक्ला की दो शादियां हुई थी।

पहली शादी से पैदा हुई तीन बेटियों के नाम रमेश चंद्र शुक्ला ने जमीन की वसीयत काफी समय पहले कर दी थी लेकिन छवि मोहन के दखल के बाद वह वसीयत रदद कर दी गई । इसी जमीन को छवि मोहन शुक्ला ने करीब डेढ़ करोड़ रुपए से अधिक में बेच दिया।

इससे पहले अपने भांजे अंकित को बकेवर में कोल्ड ड्रिंक की एजेंसी दिलवाई थी । आपसी विवाद होने के बाद शुक्ला का भांजा अंकित यहां से एक फ्रिज और चिलर लेकर के चला गया जिसको वापस लाने के लिए छवि मोहन शुक्ला अहेरीपुर के आशु बाजपेई,शरद शुक्ला और पुत्ती बाजपेई के साथ कचौरा घाट गए हुए थे।

उन्होंने स्थानीय थाना पुलिस से भी इस बाबत मदद ली । पुलिस की मदद से दोनों पक्षों के बीच आपस में सुलह समझौता हो गया लेकिन जैसे ही शुक्ला फ्रिज और चिलर को लोडर में रखवा रहे थे वैसे ही उनके भांजे अंकित ने शुक्ला के ऊपर कुल्हाड़ियों से प्रहार कर दिया जिससे शुक्ला मरणासन्न हालत में उसी स्थान पर गिर पड़े।