किंग कोबरा के दो बार काटा, फिर भी जिंदा है शख्स

उत्तर प्रदेश एक शख्स को काला कोबरा के दो बार काटने का भी नहीं हुआ कोई असर
उत्तर प्रदेश एक शख्स को काला कोबरा के दो बार काटने का भी नहीं हुआ कोई असर

हरदोई। काला कोबरा किसी को काट ले और उसके बाद भी वो जीवित रहे ऐसा कम ही होता है लेकिन उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में अपने आप में हैरान करने वाला एक मामला सामने आया है, जहाँ एक शख्स को काले कोबरा ने दो बार डंसा मगर वह पूरी तरह स्वस्थ है।

हरदोई के कछौना इलाके के कामीपुर गांव निवासी 42 साल के सरफराज कछौना के एफसीआई गोदाम में पल्लेदार मजदूरों के ठेकेदार हैं। रविवार शाम किसी बात पर घर से गुस्सा होकर निकले सरफराज जब गोदाम में पहुंचे तो वहां बोरियों के बीच में बैठे एक काले नाग ने उनकी उंगली में काट लिया। सरफराज ने काले कोबरा को गुस्से से हाथ से पकड़ लिया और चिल्लाते हुए अपनी ऊँगली फिर उसके पास ले गए और दुबारा काटने को ललकारा, गुस्साए काले कोबरा ने सरफराज के दुबारा ऊँगली में काट लिया।

मौके पर मौजूद लोगों ने जब यह पूरा वाक्या देखा और सांप के काटने से अपना आपा खो चुके सरफराज की हरकत को देखा तो उनके हाथ से किसी तरह काला कोबरा छुड़वाकर एक बाल्टी में डलवा दिया। उसके बाद घरेलू उपचार करते हुए उसे नीम की पत्तियां खाने को दी।

कोबरा की फुफकार देखकर सहमे लोग तत्काल सरफराज को इलाज के लिए जिला चिकित्सालय ले गये। जहां डॉक्टरों ने उनका उपचार शुरू कर दिया। हालांकि काले कोबरा के काटने के बाद भी उनका अभी प्राथमिक उपचार ही किया गया है फिलहाल उनकी हालात काले कोबरा के दो बार काटने के बाद भी अभी सही ही है।

जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी में तैनात डॉ मनोज देशमणि के मुताबिक सरफराज की हालत इस समय सही है। हालांकि डॉक्टर के मुताबिक सरफराज की हाथों की उंगलियों में सांप के दो बार काटने के निशान हैं।

डॉक्टर भी सरफराज की केस हिस्ट्री के बाद हैरान हैं कि जिस जहरीले सांप द्वारा सरफराज ने काटा जाना बताया है उसके जहर का बहुत मामूली असर है। डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद अभी तक सरफराज को एंटी स्नेक वेनम की डोज आवश्यकता नहीं होने के कारण नहीं दी है। फिलहाल अस्पताल के डॉक्टर उन पर पूरी नजर बनाए हुए हैं।