पूर्णागिरि दर्शन को जा रहे श्रद्धालुओं को डंफर ने रौंदा, 11 मरे, 15 घायल

उत्तर प्रदेश, बरेली, उत्तराखंड, चम्पावत, टनकपुर, पूर्णागिरि मंदिर, पदयात्रा, श्रद्धालु, डंफर, 11 की मृत्यु,
उत्तर प्रदेश, बरेली, उत्तराखंड, चम्पावत, टनकपुर, पूर्णागिरि मंदिर, पदयात्रा, श्रद्धालु, डंफर, 11 की मृत्यु,

बरेली। उत्तराखंड में चम्पावत जिले के टनकपुर क्षेत्र में पूर्णागिरि मंदिर की पदयात्रा कर रहे श्रद्धालुओं को आज भोर एक तेज रफ्तार डंफर ने रौंद दिया जिससे 11 की मृत्यु हो गई और 15 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हताहत श्रद्धालुओं में सभी उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के निवासी हैं। बरेली से 250 श्रद्धालुओं का दल माता के डोले के साथ जा रहा था। भोर करीब पांच बजे सितारगंज से टनकपुर की तरफ आ रहे डंपर ने सेल्सटैक्स ऑफिस के पास पैदल जा रहे श्रद्धालुओं को रौंद डाला।

इस हादसे में 11 लोगों की मृत्यु हो गई तथा 15 लोग घायल हो गए। गंभीर रूप से घायल छह लोगों को टनकपुर से खटीमा और पीलीभीत (उत्तर प्रदेश) अस्पताल भेजा गया है।

चम्पावत के अपर जिलाधिकारी हेमंत कुमार वर्मा ने बताया कि राहत एवं बचाव कार्य के लिए स्थानीय प्रशासन, पुलिस के अलावा सेना के जवानों को लगाया गया है। घायलों व अन्य लोगों को वापस भेजने के लिए रोडवेज बस की व्यवस्था कर दी गई है। डोले के साथ आ रहे अन्य लोगों ने मृतकों व घायलों के परिजनों को सूचित कर दिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धीरेंद्र गुंजाल ने बताया कि नवाबगंज बरेली से लोग डोला लेकर आ रहे थे। इसी दौरान एक तेज रफ्तार डंफर ने उन्हें कुचल दिया जिसके कारण 09 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई तथा 17 अन्य लोग घायल हो गए।

उन्होंने बताया कि इस घटना की सूचना मिलते ही पुलिस तथा सेना के जवान मौके पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया जहां दो अन्य लोगों की मृत्यु हो गई।

उन्होंने बताया कि मरने वालों की पहचान वीर सिंह (18), सोनू (18),विशाल(17), रामकुमार (16), दीनदयाल (35), बाबू (12), केशर सिंह (16), रामस्वरूप (40), सोहन (40) के तौर पर की गयी है जबकि दो अन्य की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। 15 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।