उत्तराखंड पुलिस ने अलवर से मानव तस्कर को किया अरेस्ट

अलवर/रूद्रपुर/नैनीताल। उत्तराखंड की उधमसिंह नगर की पुलिस ने नाबालिग को राजस्थान के अलवर बेचे जाने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कुंडा थाना के इस्लाम नगर में नाबालिग अपनी विधवा मां के साथ रहती थी। उसकी मां भी गंभीर बीमार थी।

गिरोह ने इसी लाचारी का फायदा उठाते हुए 26 अक्टूबर को युवती को बहला फुसला कर अलवर (राजस्थान) के कोट कासिम थाना के मेवली गांव में तीन लाख रूपए में विकलांग के हाथ बेच दिया।

उन्होंने बताया 15 नवम्बर को नाबालिग की मां ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट कुंडा थाने में लिखवाई। एसएसपी टीएस मंजूनाथ के निर्देश पर नाबालिग की तलाश के लिए कुंडा थाना प्रभारी की अगुवाई में एक टीम का गठन किया गया।

जांच में पता चला कि युवती को उसके पड़ोस में रहने वाली महिला सोनिया कुमारी और उसके मुंह बोले पति राजू ने शादी के नाम पर अलवर (राजस्थान) के कोट कासिम थाना के मेवली गांव में तीन लाख रूपए में बेच दिया।

पुलिस ने नाबालिग को अलवर के मेवली गांव से सकुशल बरामद कर विकलांग युवक के पिता मनोज कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। सोनिया कुमारी, उसका मुंह बोला पति राजू, आरोपी मनोज कुमार की पत्नी सुनील देवी व उसका पुत्र मोनू फरार हैं। पुलिस ने आरोपियों की तलाश में जुट गई है।