वनवासी कल्याण केंद्र के पदाधिकारी प्रणय दत्त का निधन

रांची। वनवासी कल्याण केंद्र के क्षेत्र (झारखंड-बिहार) नगर कार्य प्रमुख व संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक प्रणय दत्त का निधन हो गया।

वे मेडिका अस्पताल में भर्ती थे। उनका निधन रविवार रात को हुआ। पिछले माह कोरोना संक्रमित होने पर मेडिका में उन्हें भर्ती कराया गया था और पिछले 17 मई को आरोग्य भवन स्थित अपने आवास पर वह आ गए थे। फिर से तबीयत ज्यादा खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इनके पुत्र के हैदराबाद से आने के बाद उनका दाह संस्कार होगा। प्रणय दत्त मूलरूप से बहरागोड़ा के रहने वाले थे। 1983 से वह संघ से जुड़े थे। उनके निधन पर वनवासी कल्याण केंद्र के पदाधिकारियों के साथ साथ आरएसएस, विहिप, एकल अभियान, विकास भारती, आरोग्य भारती व अभाविप के पदाधिकारियों ने शोक व्यक्त किया है।

इस बीच केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि कल्याण आश्रम के वरिष्ठ पूर्णकालिक कार्यकर्ता, क्षेत्रीय नगर प्रमुख और मेरे बहुत घनिष्ठ प्रणय दत्त के निधन से मैं मर्माहत हूं। उनके साथ मेरा बहुत आत्मीय संबंध रहा।

वनवासी कल्याण आश्रम के माध्यम से उन्होंने देश भर के और खासकर झारखंड में जनजातियों के लिए शिक्षा और सामाजिक उन्नति के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किया। भगवान उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें और उनके परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।