डॉक्टर भाभी ने कहा नपुंसक, गुस्से में देवर ने कर डाला कत्ल

वाराणसी। उत्तर प्रदेश में वाराणसी के एक पूर्व विधायक की डॉक्टर बहू की बुधवार को उसके देवर ने क्लिनिक पर हत्या कर दी।

घटना के बाद आरोपी देवर ने थाने पर जाकर आत्मसमर्पण कर दिया तथा अपना जुर्म कबूल करते हुए पुलिस से कहा कि भाभी ने उसे नपुंसक कहा था, जिसकी वजह से गुस्से में आकर उस पर वार कर दिया और उसकी मृत्यु हो गई।

पुलिस उपायुक्त (वरुणा क्षेत्र) विक्रम वीर ने बताया कि सिगरा क्षेत्र के संत रघुवर नगर कॉलोनी में डॉ0 सपना दत्ता की हत्या के मामले उसके देवर अनिल दत्ता को गिरफ्तार कर लिया गया तथा एक अन्य आरोपी रोशन चौधरी की तलाश की जा रही है। रोशन अनिल का नौकर बताया जाता है।

उन्होंने बताया कि दशाश्वमेध क्षेत्र के निवासी अनिल ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। अभियुक्त ने अपने बयान में कहा है कि उसने क्लिनिक में रखे हथौड़े एवं कैंची से वार कर महिला डॉक्टर की हत्या की।

वीर ने बताया कि शुरुआती जांच में यह घटना पारिवारिक विवाद का लगता है। महमूरगंज क्षेत्र में स्थिति घटना स्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। इस घटना के पीछे संपत्ति विवाद की बात सामने आई है। अनिल और सपना के बीच काफी समय से विवाद चल रहा था। मंगलवार को भी दोनों के बीच कहासुनी हुई थी।

उन्होंने बताया कि अनिल का कहना है कि उसकी भभी डॉ सपना उसे और उसके बड़े भाई को बार-बार नपुंसक कहती थी। बुधवार को जब वह अपने माता-पिता से मिलने के लिए गया तब भी उसे नपुंसक कहा गया। इसके बाद उसने अपना आपा खो दिया और भाभी पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि घटना के बाद लहुलूहान हालत में डॉ सपना को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

वीर ने बताया कि डॉ सपना दत्ता डाइगोनॅस्टिक एवं फ्रैक्चर सेंटर के नाम से क्लिनिक चलाती थी। उसके ससुर रजनीकांत दत्ता वाराणसी के शहर दक्षिणी क्षेत्र से विधायक रह चुके हैं।