स्टरलाइट हिंसा में 13 लोगों की मौत से दुखी : अनिल अग्रवाल

Vedanta boss Anil Agarwal expresses sorrow over deaths during sterlite protests in thoothukudi

थूथुकुडी। वेदांता समूह के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने कहा है कि यहां कंपनी के संयंत्र स्टरलाइट काॅपर के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में 13 लोगों की मौत से वह दुखी हैं और इसे दोबारा शुरू करने के लिए सरकार और न्यायालय के आदेश की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

अग्रवाल ने शुक्रवार को अपने टि्वटर पर एक वीडियो अपलोड किया है जिसमें उन्होंने कहा कि घटना के बारे में जानकर मुझे बहुत दुख हुआ है। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है, हिंसा में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति मेरी पूरी सहानुभूति है। फिलहाल संयंत्र वार्षिक रख-रखाव के लिए बंद है और इसे फिर से शुरू करने के लिए हम न्यायालय और सरकार की मंजूरी की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कंपनी न्यायालय और सरकार के आदेशों का पूरी कड़ाई से पालन कर रही है। कंपनी ने हमेशा से यह प्रयास किया है कि थूथुकुडी के लोग हमारे साथ रहें और हम समुदाय की भलाई के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं। अग्रवाल ने कहा कि वह पर्यावरण और विकास के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है। कंपनी कानून का पूरी तरह से पालन करेगी तथा थूथुकुडी और तमिलनाडु के लोगों के विकास के लिए हर संभव प्रयास करेगी।

थूथुकुडी स्टरलाइट संयंत्र की विस्तार इकाई को लेकर 100 दिन से अधिक समय से चल रहा प्रदर्शन बुधवार को हिंसक हो गया और हिंसा पर उतारू लोगों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को गोली चलानी पड़ी। इस घटना में अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है और 60 से अधिक घायल हैं। राज्य सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के लिए एक सदस्यीय आयोग का गठन किया है। प्रभावित इलाके में धारा 144 लागू है।

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने भी इस पूरी घटना पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है। इस मामले में अब तक 67 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।