राजस्थान में नौ सौ से ज्यादा बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता पोस्टल बैलेट से कर सकेंगे मतदान

Veterans and differently-abled voters will be able to vote in Rajasthan through postal ballot

जयपुर। राजस्थान में आगामी सत्रह अप्रैल को होने वाले तीन सीटों के विधानसभा उपचुनाव में नौ सौ से अधिक बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान कर सकेंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि निर्वाचन विभाग द्वारा शत-प्रतिशत मतदान को बढ़ावा देने के प्रयास रंग ला रहे हैं और प्रदेश के सहाड़ा, सुजानगढ़ और राजसमंद विधानसभा के लिए होने वाले उप चुनाव में 918 ऎसे मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान करने की सहमति दी है, जिनकी उम्र 80 वर्ष से ज्यादा है या दिव्यांग हैं।

उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग और निर्वाचन विभाग के प्रयास रहते हैं कि कोई मतदाता ना छूटे। इसके लिए विभिन्न स्तर पर प्रयास किए जाते रहे हैं। 80 वर्ष से अधिक के बुजुर्ग और 40 प्रतिशत से ज्यादा दिव्यांगता वाले मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाना चुनौतीपूर्ण कार्य है। इसके लिए प्रदेश में पहली बार विधानसभा उपचुनाव में पोस्टल बैलेट की सुविधा उपलब्ध कराई गई। उन्होंने बताया कि तीनों विधानसभाओं में 29 हजार 180 मतदाता 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग और दिव्यांग हैं। इनमें से 918 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट से मतदान करने के लिए सहमति दी है।

गुप्ता ने बताया कि ऐसे बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट के वितरण का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सुजानगढ़ और सहाड़ा में सात से दस अप्रैल तक पोस्टल बैलेट का वितरण किया जा रहा है, जबकि राजसमंद में 10 से 12 अप्रैल तक वितरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पोस्टल बैलेट उन्हीं मतदाताओं को उपलब्ध कराया जाएगा, जिन्होंने इस बारे में पूर्व में सहमति दी है।

उन्होंने बताया कि तीनों विधानसभा क्षेत्रों में मतदाता पर्ची का घर-घर जाकर वितरण पांच अप्रैल से प्रारंभ कर दिया गया है, जो कि दस अप्रैल तक चलेगा।