अजमेर में कलेक्टर के नाम से वायरल हो रहा लॉकडाउन का मैसेज, एसपी ने बताया अफवाह


अजमेर। अजमेर जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन पसीना बहा रहा है उस पर गुरुवार से शुक्रवार सुबह तक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक मैसेज ने उसका चैन छीन लिया। वीडियो मैसेज में कलेक्टर के हवाले से बताया गया कि अजमेर में 31 जुलाई की मध्य रात्रि से आगामी 4 अगस्त तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा।

लॉकडाउन की सूचना वाले इस वीडियो व इसके साथ वायरल हो रहे टैक्सट मैसेज को पढ लोग एक बार फिर सकते में आ गए। बीती देर शाम से ही लोग परस्पर लॉकडाउन को लेकर एक दूसरे से पूछताछ करते रहे। मीडियाकर्मियों के पास भी लॉकडाउन के बारे में कोई पुता सूचना नहीं होने से असमंजस की स्थिति बनी रही।

शुक्रवार को लॉकडाउन के इस मैसेज के कारण बाजार में भी हलचल बढ गई और गुटखा, बीडी, सिगरेट समेत अन्य आवश्यक सामग्री की खरीदारी आम दिनों की अपेक्षा अधिक हुई। लॉकडाउन को लेकर इस उहापोह की स्थिति का पटाक्षेप तब हुआ। खुद पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने लॉकडाउन के मैसेज को कोरी अफवाह बताया।

उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद उक्त वीडियो मैसेज संज्ञान में आने के बाद तत्काल इस बारे में जानकारी की। इस मैसेज का अजमेर और अजमेर के कलेक्टर से कोई संबंध नहीं है। वीडियो में दिखाई देने वाला शख्स प्रशासनिक अधिकारी लग रहा है लेकिन मास्क लगाए होने के कारण पहचान करने में कुछ परेशानी आ रही है।

उन्होंने आमजन को लॉकडाउन के बारे में फैल रही अफवाह से प्रभावित न होने की अपील की साथ कहा कि कोरोना वायरस को लेकर किसी भी प्रकार के प्रशासनिक फैसले के बारे में बाकायदा मीडिया को जानकारी दी जाएगी तथा आमजन को सूचित किया जाएगा। फिलहाल लॉकडाउन को लेकर वायरल हो रहा उक्त मैसेज कोरी अफवाह है।