कानपुर : विकास दुबे का शरणदाता प्रभात मिश्रा पुलिस मुठभेड़ में ढेर

कानपुर। उत्तर प्रदेश में कानपुर के पनकी क्षेत्र में पुलिस ने गुरूवार को शातिर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के शरणदाता को मुठभेड़ में मार गिराया।

पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि बुधवार को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने मंगलवार को विकास के साथी प्रभात मिश्रा को गिरफ्तार किया था। वहां की अदालत में पेश करने के बाद पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी। एसटीफ की टीम इस्कॉर्ट कर रही थी कि तभी पनकी क्षेत्र में कानपुर भौंती हाईवे पर वाहन का एक टायर पंक्चर हो गया।

उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मी पंचर टायर को बदल रहे थे कि इस बीच मौक़ा पाकर अभियुक्त प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास किया गया और पुलिस टीम पर फायरिंग करना शुरू कर दिया। जवाबी फायरिंग में प्रभात गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अग्रवाल ने बताया कि प्रभात की गोलीबारी में एसटीएफ के दो आरक्षी भी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। गौरतलब है कि फ़रीदाबाद पुलिस ने फरीदाबाद के एक गेस्ट हाउस से प्रभात समेत तीन को गिरफ्तार किया था।