अश्वेत की मौत के बाद हिंसा : अमरीका के कई शहरों में कर्फ्यू

वाशिंगटन। अमरीका में एक अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लायड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसक झड़प को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने लॉस एंजिल्स, फिलडेल्फिया तथा अटलांटा में कर्फ्यू लागू कर दिया है।

स्थानीय प्रशासन ने इन राज्यों में शनिवार रात कर्फ्यू लागू करने की घोषणा की। लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गारसेटी ने ट्वीट कर कहा कि हम लॉस एंजिल्स के निवासियों के स्वतंत्र रूप से बोलने तथा बिना किसी हिंसा और दहशत के जिंदगी जीने के अधिकारों का हमेशा संरक्षण करेंगे। प्रदर्शनकारियों, कानून नियामकों और लॉस एंजिल्स के सभी नागरिकों के लिए सुरक्षा को देखते हुए हम रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रहे हैं।

एबीसी न्यूज चैनल के अनुसार लॉस एंजिल्स में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोलों और रबर की गोलियों का इस्तेमाल किया। हिंसक झड़प के दौरान चार सौ से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया। इस दौरान कई अधिकारियों के घायल होने की भी सूचना है।

फिलाडेल्पिया की पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा कि कृपया ध्यान दें, फिलाडेल्फिया के मेयर जिम केन्ने ने पूरे शहर में रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगा दिया है। इस दौरान सिर्फ आवश्यक ड्यूटी करने वाले लोगों को ही बाहर निकलने की इजाजत होगी।

पुलिस अधिकारियाें के मुताबिक शहर में शनिवार को हुए प्रदर्शनों के दौरान 14 लोगों को हिरासत में लिया गया है। अटलांटा के पुलिस विभाग ने ट्वीट कर कहा कि अटलांटा शहर में आज रात नौ बजे से कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। महानगरीय अटलांटा रैपिड ट्रांजिट प्राधिकरण (मार्टा) को को परामर्श दिया जाता है कि वह रात साढ़े नौ बजे शहर में चलने वाली ट्रेनों का परिचालन रोक दें।

इससे पहले जॉर्जिया के गवर्नर ब्रायन पी केम्प ने बड़े पैमाने पर हुई हिंसक झड़पों के बपाद अटलांटा सहित पूरे क्षेत्र में आपातकाल की घोषणा कर दी थी। अमरीका में मिनियापोलिस, सिएटल, पोर्टलैंड, डेनवर, क्लीवलैंड, कोलंबस और पिट्सबर्ग सहित कई अन्य शहरों में कर्फ्यू लागू है।

उल्लेखनीय है कि गत सोमवार को पुलिस हिरासत में अफ्रीका निवासी अमरीकी नागरिक जॉर्ज फ्लायड की मौत हो गई थी। सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिखाई दे रहा है कि श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन ने फ्लायड की गर्दन को अपने घुटने से दबा रहा है। उसने आठ मिनट से अधिक समय तक फ्लायड को अपने घुटने से दबाए रखा, जिसके कारण फ्लायड को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। इसके कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई। आरोपी पुलिस अधिकारी को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया।