वायरल वीडियो से खुली भाजपा-आरएसएस के भ्रष्टाचार की पोल : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे हैं और राजस्थान में वायरल वीडियो से इस भ्रष्टाचार की पोल खुली है जिसे स्वतः संज्ञान लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने प्राथमिकी दर्ज की है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 10 जून को सामने आए इस वीडियो में आरएसएस के नेता एक कंपनी के कर्मचारी के साथ दस प्रतिशत रिश्वत लेने के लिए मोलभाव कर रहे हैं। वीडियो में रिकॉर्ड हुई बातचीत से साफ पता चलता है कि प्रकरण में कमीशन मांगा जा रहा है ।

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के इस प्रकरण में भाजपा के जयपुर के निलंबित मेयर सौम्या गुर्जर के पति एवं भाजपा नेता राजाराम भी शामिल है। मेयर सौम्या गुर्जर को भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप में ही पद से निलंबित किया गया था।

खेड़ा ने कहा कि भ्रष्टाचार के इस तंत्र में आरएसएस के राजस्थान के प्रमुख निंबाराम भी शामिल है। वह पांच करोड़ रुपये के कमीशन में हुई डील की रकम का टुकड़ों में भुगतान करने के लिए राजाराम को समझाने की बात कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सूचना मिली है कि वीडियो वायरल होने के बाद राजस्थान भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने इस पूरे प्रकरण का स्वतः संज्ञान लेकर प्राथमिकी दर्ज कर दी है। उनका कहना था कि भाजपा आरएसएस के भ्रष्टाचार की यह स्थिति उस राजस्थान की है जहां भाजपा सत्ता में नहीं है। जहां भाजपा सत्ता में होगी वहां भ्रष्टाचार किस कदर है, यह अनुमान इस कहानी से लगाया जा सकता है।