आईपीएल एकादश में विराट कोहली को जगह नहीं

नई दिल्ली। तीनों फार्मेट में भारतीय कप्तान और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ाें में से एक विराट कोहली को आईपीएल-11 में लीग चरण के बाद क्रिकइंफो की चुनी गई आईपीएल एकादश में जगह नहीं मिली है।

क्रिकइंफो ने स्मार्ट स्टैट्स का इस्तेमाल करते हुए 2018 आईपीएल लीग चरण के प्रदर्शन के आधार पर एकादश का चयन किया है लेकिन इसमें विराट को जगह नहीं मिल पाई है। विराट की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू प्लेऑफ में नहीं पहुंच पाई है।

विराट ने लीग चरण में 14 मैचों में 48.18 के औसत से और 139.10 के स्ट्राइक रेट से अपनी टीम में सर्वाधिक 530 रन बनाए हैं जिसमें चार अर्धशतक शामिल है। लेकिन विराट अपनी टीम के निराशाजनक प्रदर्शन के कारण एकादश में नहीं पहुंच पाए।

आईपीएल एकादश में किंग्स इलेवन पंजाब के लोकेश राहुल अौर पंजाब के एंड्रयू टाई, कोलकाता नाइटराइडर्स के सुनील नारायण अौर दिनेश कार्तिक, सनराइजर्स हैदराबाद के केन विलियम्सन और राशिद खान, दिल्ली डेयरडेविल्स के रिषभ पंत, चेन्नई सुपरकिंग्स के अंबाटी रायुडू और महेंद्र सिंह धोनी, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के उमेश यादव और मुंबई इंडियन्स के जसप्रीत बुमराह शामिल है।

दिलचस्प बात है कि इस एकादश में तीन विकेटकीपर बल्लेबाज़ों पंत, कार्तिक और धोनी को रखा गया है। हालांकि विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी धोनी पर रखी गयी है। हैदराबाद के कप्तान विलियम्सन इस एकादश के कप्तान बनाए गए हैं। हैदराबाद की टीम लीग चरण में शीर्ष पर रहते हुए प्लेऑफ में पहुंची हैं। प्लेअाॅफ की अन्य तीन टीमें चेन्नई, कोलकाता और राजस्थान है।

आईपीएल एकादश में चुने गये खिलाड़ियों में ओपनिंग के लिए पंजाब के राहुल और कोलकाता के नारायण को रखा गया है। राहुल ने लीग चरण में 54.91 के औसत से 659 रन बनाए। नारायण ने 327 रन बनाने के अलावा 16 विकेट भी हासिल किए।

कप्तान विलियम्सन ने 60 के औसत से 661 रन बनाए जिनमें आठ अर्धशतक शामिल है। चौथे नंबर पर मौजूद रायुडू ने 45 के औसत से 586 रन बनाए जबकि प्लेऑफ से बाहर रही दिल्ली की टीम के रिषभ पंत ने 684 रन बनाए और लीग चरण में वह शीर्ष स्कोरर रहे।

कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने अपनी शानदार फार्म जारी रखते हुए 438 रन बनाए। उन्होंने इस सत्र में लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी टीम की जीतों में नाबाद 35, नाबाद 42, 23, नाबाद 45 और नाबाद 41 जैसी पारियां खेलीं।

इस सत्र में जबरदस्त प्रदर्शन करने वाले चेन्नई के कप्तान धोनी ने 89.20 के जबरदस्त औसत से 446 रन बनाये और उनका स्ट्राइक रेट 157 का रहा। उनकी डैथ ओवरों की बल्लेबाज़ी कमाल की रही और वह अपनी फिनिशर की भूमिका में फिर से लौट आए। धोनी ने डैथ अोवरों में कुल 297 रन बटोरे।

अफगानिस्तान के 18 साल के युवा लेग स्पिनर ने 6.65 के इकोनोमी रेट से 16 विकेट लेकर हैदराबाद की कामयाबी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जबकि पंजाब के तेज़ गेंदबाज़ एंड्रयू टाई ने लीग चरण में सर्वाधिक 24 विकेट हासिल किए। उन्होंने इस सत्र में चार या उससे अधिक विकेट तीन बार हासिल किए।

बेंगलुरू के तेज़ गेंदबाज उमेश यादव के हिस्से में 20 विकेट रहे जबकि मुंबई के यार्कर मैन बुमराह ने 17 विकेट हासिल किए।

आईपीएल एकादश : लोकेश राहुल, सुनील नारायण, केन विलियम्सन(कप्तान), अंबाटी रायुडू, रिषभ पंत, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), राशिद खान, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह, एंड्रयू टाई।