समलैंगिकों को एंट्री न देने को लेकर विवाद में घिरा विराट कोहली का रेस्तरां

नई दिल्ली। टी-20 विश्व कप 2021 के बाद खुद को तरोताजा करने के लिए वर्तमान में रेस्ट पर चल रहे भारतीय वनडे एवं टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली एक अनपेक्षित विवाद को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं।

दरअसल कोहली के स्वामित्व वाली रेस्तरां चेन ‘वन8 कम्यून’ पर आरोप है कि वह अपने रेस्तरां में समलैंगिकों को एंट्री नहीं दे रहा है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर काफी विवाद हो रहा है। सोशल मीडिया पर चल रही खबरों के मुताबिक ‘वन8 कम्यून’ रेस्तरां में समलैंगिकों को एंट्री नहीं दी जा रही है। समलैंगिक पुरुषों को तो साफ इंकार किया जा रहा है, जबकि ट्रांसवुमेन यानी समलैंगिक महिलाओं के पहनावे को देखकर उन्हें रेस्तरां में आने की अनुमति दी जा रही है।

इस मामले में विवाद को बढ़ते देखते हुए कंपनी ने सफाई दी है। ‘वन8 कम्यून’ ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा कि हम बिना किसी भेदभाव के सबका स्वागत और सम्मान करते हैं। जैसा कि हमारा नाम है हम सभी समुदाय की सेवा में हमेशा आगे हैं।

इंडस्ट्री के चलन और सरकारी नियमों के अनुरूप, हमारे यहां पर स्टैग एंट्री यानी अकेले आदमी के प्रवेश पर रोक है। इसका मतलब ये नहीं है कि हम किसी भी समुदाय के खिलाफ हैं, लेकिन फिर भी अगर अनजाने में कोई घटना हुई है या फिर कोई गलतफहमी हुई है तो हम चाहते हैं कि वह व्यक्ति हमसे मिलें, ताकि हम इस विवाद को उचित तरीके से हल कर सकें। ग्राहक हमारी प्राथमिकता हैं और उनके साथ मजबूत और लंबे संबंध बनाना हमारी प्रणाली का हिस्सा है।

उल्लेखनीय है कि समलैंगिक समुदाय के अधिकारों की रक्षा करने वाले समूह ‘येस वी एग्जिस्ट’ ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा कि विराट कोहली आप शायद इसके बारे में नहीं जानते हैं, लेकिन पुणे में आपका रेस्तरां ‘वन8 कम्यून’ समलैंगिक मेहमानों के साथ भेदभाव करता है। अन्य ब्रांच की भी इसी तरह की नीति है।

यह अप्रत्याशित और अस्वीकार्य है। आशा है कि आप जल्द ही इसमें बदलाव करेंगे। या तो रेस्तरां को संवेदनशील बनाने के लिए बेहतर काम करें या भेदभाव करने वाले व्यवसायों को बंद करें। उल्लेखनीय है कि विराट दिल्ली सहित पुणे और कोलकाता में ‘वन8 कम्यून’ रेस्तरां चलते हैं।

डेढ़ करोड़ रुपए की घड़ियों के लिए उचित सीमा शुल्क चुकाया : हार्दिक पांड्या