तेलंगाना में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी

हैदराबाद। तेलंगाना में विधानसभा की 119 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। राज्य में कड़ी सुरक्षा के बीच वोटिंग की प्रक्रिया आज सुबह सात बजे शुरू हुई। तापमान बढने के साथ मतदान में गति आ रही है।

राज्य में 32,815 मतदान केंद्रों पर 1.39 करोड़ महिलाओं सहित 2.8 करोड़ से अधिक मतदाता आज अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ. रजत कुमार ने बताया कि 4.57 लाख दिव्यांग नागरिकों के मतदान करने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं के लिए निशुल्क परिवहन, ग्रिल रैम्पस, व्हील चैयर, विशेष पार्किंग सुविधा और बिना किसी कतार लगे मतदान करने की सुविधा दी गई है। उन्होंने बताया कि 29,541 स्वयंसेवक मतदान में उनकी सहायता करेंगे।

हैदराबाद के जिला चुनाव अधिकारी दाना किशोर ने बताया कि दिव्यांगों के लिए हैदराबाद के सभी मतदान केंद्रों पर रैम्प,व्हीलचेयर, एक स्वयंसेवक के साथ रैम्प पर चलने वाले वाहन, एंड्रॉयड आधारित जीएचएमसी वादा ऐप और ब्रेल स्लिप की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि हैदराबाद में कुल 18000 लोग दिव्यांग मतदाता के तौर पर पंजीकृत हैं।

अतिरिक्त महानिदेशन (कानून और व्यवस्था) जितेंद्र ने बताया कि 27,900 केंद्रीय सुरक्षा बल, अन्य राज्य से 18,860 और 30, हजार राज्य पुलिस के सहित लगभग एक लाख पुलिसकर्मी तैनात किया गए हैं।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से सटे नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की गई है। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए सुरक्षा की व्यापक व्यवस्था की गई है। इन क्षेत्रों में काफी संख्या में राज्य और केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों को तैनात किया गया है।

चुनाव प्राधिकरणों ने संवेदनशील एवं नक्सली प्रभावित क्षेत्रों में आकस्मिक घटना के लिए वायु एंबुलेंस और हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की है। रजत ने बताया कि 106 विधानसभा क्षेत्रों में शाम पांच बजे मतदान समाप्त होगा जबकि नक्सल प्रभावित 19 विधानसभा क्षेत्रों में एक घंटे पहले शाम चार बजे तक वोटिंग होगी।

उन्होंने बताया कि चुनावी प्रक्रिया को निष्पक्ष तरीके से सम्पन्न कराने के लिए 450 निगरानी दस्तों को भी तैनात किया गया है, जो चुनाव के दौरान अनियमितताओं की जांच करेंगे।

राज्य में मतदाता 1,824 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करेंगें। राज्य में 1.41 करोड़ से अधिक पुरुष मतदाता और 1.39 से अधिक महिला मतदाता है। मलकाजगिरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 42 प्रत्याशी मैदान में है जबकि बांसवाड क्षेत्र में सबस कम छह प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

चुनाव आयाेग सूत्राें ने बताया कि 32,815 मतदान केंद्रों पर 1.6 लाख से अधिक चुनाव कर्मियों को चुनाव सामग्री एवं मतदान मशीनों के साथ तैनात किया गया है।

मतदान समाप्त होने तक शराब की बिक्री पर प्रतिबंध है और अगले 24 घंटों के दौरान चुनाव से संबंधित खबरों के प्रसारण पर प्रतिबंध लागू किया गया है। गौरतलब है कि चुनाव प्रचार बुधवार शाम पांच बजे समाप्त हो गया। मतगणना 11 दिसंबर को राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम के साथ होगी।