कोलकाता निकाय चुनाव में 64 प्रतिशत मतदान, अनियमितता के खिलाफ विपक्ष का प्रदर्शन

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

कोलकाता। छिटपुट हिंसा की खबरों और विपक्षी दलों द्वारा बड़े पैमाने पर कदाचार तथा डराने-धमकाने के आरोपों के बीच रविवार को कोलकाता नगर निगम चुनाव में करीब 64 प्रतिशत मतदान हुआ।

कोलकाता निकाय चुनाव के लिए शाम पांच बजे तक मतदान हुआ। कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (मुख्यालय) शुभांकर सिन्हा सरकार ने बताया कि मतदान के दौरान हिंसा को लेकर शहर के विभिन्न हिस्सों के 72 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि कोलकाता मध्य के सियालदह क्षेत्र में ताकी उच्च विद्यालय के मतदान केंद्र पर अज्ञात बदमाशों द्वारा फेंके गए देसी बम की वजह से दो लोग घायल हुए हैं। इस घटना को लेकर तृणमूल कांग्रेस तथा कांग्रेस ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाया है।

उत्तरी कोलकाता के वार्ड 22 में कथित तौर पर तृणमूल के समर्थक गुंडों ने भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा) उम्मीदवार और शहर की पूर्व उप महापौर मीना देवी पुरोहित पर हमला किया।वहीं मध्य कोलकाता में कांग्रेस उम्मीदवार संतोष पाठक ने शिकायत दर्ज करायी कि तृणमूल ने फर्जी मतदाताओं के जरिए मतदान करवाया।

मार्क्सादी कम्युनिष्ट पार्टी ने आरोप लगाया कि उसके पोलिंग एजेंट को बाहर निकाल दिया गया तथा कई मतदान केंद्र पर उम्मीदवारों को प्रवेश करने से रोका गया। माकपा के मुताबिक शहर के दक्षिणी हिस्से के बाहरी क्षेत्र में बाघा जतिन पर रोड को बंद कर दिया गया था।

भाजपा, माकपा तथा कांग्रेस ने इस तरह की घटनाओं को रोकने में राज्य के निर्वाचन विभाग तथा कोलकाता पुलिस पर विफल रहने का आरोप लगाया कहा कि ये दोनों विभाग मूकदर्शक बने रहे।

राज्य निर्वाचन आयोग ने शिकायतें मिलने के बाद निर्वाचन अधिकारी को वार्ड नंबर सात तथा 22 में घटित हुई घटना पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इन क्षेत्रों में भाजपा उम्मीदवार पुरोहित तथा ब्रजेश झा ने शिकायत दर्ज कराई की उन्हें पीटा गया है।

इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने घोषणा की कि पार्टी कार्यकर्ता अपराह्न एक बजे से पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या के विरोध में सभी जिलों में प्रदर्शन किया।

वहीं पार्टी नेता शिशिर बाजोरिया के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल राज्य राज्य निर्वाचन आयोग के दफ्तर गया और तृणमूल कांग्रेस पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर वोट की लूट करने का गंभीर आरोप लगाया। भाजपा और माकपा कार्यकर्ताओं ने बारतोला थाने पर संयुक्त रूप से प्रदर्शन किया।

उल्लेखनीय है कि तृमणूल कांग्रेस ने कोलकाता नगर निगम के सभी 144 वार्डों में उम्मीदवार उतारे हैं। वहीं भाजपा ने 142, माकपा के नेतृत्व में वाम मोर्चा ने 129 तथा कांग्रेस 129 वार्डों में उम्मीदवार खड़े किए थे। निकाय चुनाव में 378 निर्दलीयों ने पर्चा भरा था। नतीजे 21 दिसंबर को आएंगे।