वकार यूनिस ने ‘नमाज-हिंदू’ टिप्पणी के लिए माफी मांगी

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर पूर्व क्रिकेटरों और पाकिस्तानी प्रशंसकों के गुस्से का सामना करने के बाद पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने बुधवार को अपनी ‘नमाज-हिंदू’ वाली टिप्पणी के लिए माफी मांगी है।

वकार ने ट्विटर के जरिए इस विवादास्पद टिप्पणी के लिए माफी मांगी है और स्पष्ट किया है कि यह उस वक्त गर्म माहौल में अनजाने में हुई गलती थी। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि उस गर्म माहौल में मैंने कुछ ऐसा कह दिया जो मैं नहीं कहना चाहता था, जिससे कई लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं, मेरा बिल्कुल भी ऐसा इरादा नहीं था, यह अनजाने में हुई गलती थी। खेल जाति, रंग या धर्म की परवाह किए बिना लोगों को एकजुट करता है।

उल्लेखनीय है कि आईसीसी टी-20 विश्व कप 2021 में पाकिस्तान के भारत के खिलाफ मैच के बाद की गई इस टिप्पणी ने दुनिया भर के खेल प्रशंसकों को निराश किया था। वकार ने एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि जिस तरह से बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने बल्लेबाजी की, स्ट्राइक-रोटेश किया और उनके चेहरे के जो हावभाव थे, वह बहुत अदभुत था। सबसे अच्छी बात, रिजवान ने जो किया, माशाल्ला, उसने हिंदुओं से घिरी जमीन पर नमाज अदा की, वह सच में मेरे लिए बहुत खास था।

इसके बाद क्रिकेटर से कमेंटेटर बने आकाश चोपड़ा ने ट्विटर पर उनकी इस टिप्पणी पर असहमति जताई थी। एक अन्य पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर ने भी इसे घृणास्पद करार दिया था। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि वकार यूनिस की ओर से बिल्कुल निंदनीय और घृणित टिप्पणी। भारतीय कमेंटेटर और क्रिकेट विशेषज्ञ हर्षा भोगले ने भी वकार के विवादास्पद बयान पर अपनी राय व्यक्त करते हुए इसे निंदनीय ठहराया था।