भागलपुर उपद्रव मामले में केंद्रीय मंत्री के पुत्र के खिलाफ वारंट जारी

Union minister ashwini choubey
Union minister ashwini choubey

भागलपुर। बिहार में भागलपुर जिले के नाथनगर उपद्रव मामले में अदालत ने केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे के पुत्र अर्जित शाश्वत चौबे समेत नौ आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) एके श्रीवास्तव की अदालत में नाथनगर थाने के पुलिस निरीक्षक मो. जनीफउद्दीन ने केस डायरी के साथ उपद्रव मामले के नौ नामजद आरोपियों के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी करने के लिए आवेदन दाखिल किया।

आवेदन और केस डायरी के अवलोकन के बाद अदालत ने कल रात मंत्री पुत्र अर्जित शाश्वत चौबे समेत सभी नौ आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने का आदेश दे दिया।

नाथनगर पुलिस ने आसपास के इलाकों में आंशिक तनाव और रामनवमी के मद्देनजर अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) की अदालत में आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट के लिए दिए गए आवेदन में कहा गया है कि सभी आरोपी नाथनगर क्षेत्र से बाहर के हैं और अपनी गिरफ्तारी के भय से भाग गए हैं तथा विधि व्यवस्था बनाए रखने में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। इसलिए, सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी होना जरूरी है।

यह वारंट अर्जित शाश्वत चौबे, भारतीय जनता पार्टी के महानगर अध्यक्ष अभय कुमार घोष उर्फ सोनू घोष सहित नौ लोगों के विरुद्ध जारी की गई है। इन आरोपियों पर 17 मार्च को नाथनगर में जुलूस के दौरान हथियार के साथ प्रर्दशन करने और डीजे पर आपत्तिजनक गाने बजाने का आरोप लगाया गया है।

उल्लेखनीय है कि जिले के नाथनगर बाजार में विगत दिनों जुलूस के दौरान हुए उपद्रव मे कई पुलिसकर्मी और ग्रामीण घायल हो गए थे। बाद में नाथनगर थाने के दारोगा हरिकिशोर चौधरी के बयान पर पुलिस ने मंत्री पुत्र अर्जित शाश्वत चौबे समेत नौ लोगों को मामले में नामजद आरोपी बनाया है।