सीएम विंडो में भी शिकायत करने के एक महीने बाद भी पानी नहीं पंहुचा

सीएम विंडो में भी शिकायत करने के एक महीने बाद भी पानी नहीं पंहुचा
सीएम विंडो में भी शिकायत करने के एक महीने बाद भी पानी नहीं पंहुचा

भिवानी | भीष्ण गर्मी में पेयजल किल्लत से परेशान हरियाणा के भिवानी जिले के उमरावत गांव के निवासियों का धैर्य जवाब दे गया है और उनका कहना है कि गांव में पानी आये एक माह से भी ज्यादा का समय हो गया है लेकिन सरकार इस सम्बंध में कुछ नहीं कर रही है।

ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने पेयजल समस्या की शिकायत सीएम विंडो में भी दर्ज कराई थी लेकिन आज एक माह से भी ज्यादा का समय बीत गया है इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उनका कहना है कि अगर सीएम विंडो पर दी गई शिकायत पर भी कार्रवाई न हो तो ऐसी शिकायत पेटियों का औचित्य क्या है।

ग्रामीण गजानंद, लोकराम, देवदत्त, रामधारी सुरेश, दीपक, प्रदीप, राहुल, कुलदीप, संदीप ने कहा कि गांव में पेयजल की भारी किल्लत बनी हुई है। गांव के जलघर से पानी की महीने में दो बार ही आपूर्ति होती है तथा इसके बाद टैंक खाली हो जाता है। एक घर को मात्र 400 लीटर ही पानी मिल पाता है। पानी के अभाव के कारण ग्रामीणों को टैंकरों का सहारा लेना पड़ रहा है जिसके वे भारी कीमत चुकाने को मजबूर हैं। औसतन गांव में हर दिन 10 से 12 हजार रूपए का पानी आता है।

ग्रामीणों के अनुसार उनकी पाईप लाईन का पहले कनैक्शन कोंट गांव के जलघर से था जाे आपूर्ति ठीक थी लेकिन जब से उनके गांव में जलघर बना है तभी से यह समस्या आ रही है। पशुओं को पीने के लिये पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है जिससे दुधारू पशुओं के दूध में भी कमी आई है जबकि अधिकतर ग्रामीण दूध के सहारे ही अपना काम चलाते हैं।

पानी ही नहीं रहेगा तो वे अपने पशुओं का कहा से पानी पिलाएं व उनकों नहलाएं। ग्रामीणों का कहना है कि दोबारा से कोंट जलघर से उनका कनेक्शन हो जाए और गांव के जलघर से ही भी तो समस्या काफी हद तक ठीक हो सकती है क्योंकि कोंट गांव के जलघर में काफी टैंक हैं। इस बारे में जब जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जय प्रकाश से बात की गई तो उन्होंने कहा कि नहरों में पानी आ गया है तथा अगले दो दिन में पानी की आपूर्ति सामान्य हो जाएगी।