देवली में गंदे पानी के ट्रीटमेन्ट के लिए 8.50 करोड़ रुपए व्यय होंगे

देवली में गंदे पानी के ट्रीटमेन्ट के के लिए 8.50 करोड़ रुपए व्यय होंगे - स्वायत्त शासन मंत्री
water filter plan in devli with amount 8.50 crores
water filter plan in devli with amount 8.50 crores

जयपुर । स्वायत्त शासन मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने मंगलवार को विधानसभा में बताया कि नगर पालिका देवली में नेकचाल बालाजी स्थित तालाब में गंदे पानी के ट्रीटमेन्ट के लिए विभाग द्वारा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी की जा चुकी हैं। इस कार्य में लगभग 8.50 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

श्री धारीवाल ने प्रश्नकाल के दौरान विधायकों की ओर से पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब देते हुए बताया कि नगर पालिका क्षेत्र देवली में सीआईएसएफ के कैंपस में जल भराव होता है। सीआईएसएफ ने वहां पर कच्ची दीवार बना दी है। इससे सारा पानी देवली शहर में जाने लगा है। इसे निकालना जरूरी है। इसके लिए सीआईएसएफ को नाले पर बनी कच्ची दीवार को तोड़ने के लिए कहा जाएगा।

उन्होंने बताया कि निचले क्षेत्र में जल भराव की स्थिति उत्पन्न होने पर वहां पर सीवर के गंदे पानी को साफ करके झील में डालने के लिए तथा चारों ओर पाथ-वे, बेंच व रेलिंग लगाने व अन्य सौंदर्यीकरण कार्य के लिए 8.50 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए है। उन्होंने बताया कि उक्त क्षेत्र सीआईएसएफ का होने के कारण एसटीपी निर्माण के लिए सीआईएसएफ से भूमि उपलब्ध कराने की सहमति प्राप्त करने पर ही यह कार्य पूरा हो पाएगा। उन्होंने बताया कि उनका पत्र आने के बाद इसका तकनीकी परीक्षण के लिए रूडसीको को भिजवाएगा। तकनीकी परीक्षण होने के बाद इस पर काम किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह काम इस तरह से किया जाएगा कि पांच वर्ष तक की अवधि तक संचालन और संधारण का प्रावधान इसमें रखा जाएगा।

इससे पहले विधायक श्री हरीश चन्द्र मीना के मूल प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि नगर पालिका देवली-उनियारा में सीवर लाइन डालने का वर्तमान में प्रस्ताव विचाराधीन नहीं हैं।