योग एवं जनजागरण द्वारा कोरोना की तीसरी लहर को मात देनी है : निम्बाराम

जयपुर। हारेगा कोरोना और जीतेगा भारत इस मंत्र के साथ हमने कोरोना की प्रथम लहर पर काबू पा लिया था, लेकिन दूसरी लहर के समय हम गफलत में रहे जिसके कारण समाज को बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ा।

देश के बड़े चिकित्सा वैज्ञानिकों ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की है इसलिए सम्पूर्ण समाज को सावधान और सतर्क रहना चाहिए। योग आधारित जीवन शैली और प्रतिपल सजग समाज ही कोरोना की तीसरी लहर को रोक पाने में सक्षम है। यह विचार रविवार को विश्व योग दिवस की पूर्व संध्या पर विद्या भारती चित्तौड़ प्रान्त द्वारा आयोजित ऑनलाइन वेबीनार स्वस्थ जीवन समर्थ भारत में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम ने कही।

उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा की आज जब सम्पूर्ण विश्व की मानवता कोरोना के कारण पिछले डेढ़ वर्ष से चारदीवारी में सिमट कर रह गई है ऐसे समय में एकाकीपन और अवसाद के इस घोर अंधकार से सम्पूर्ण समाज को बाहर निकलने के लिए यह अंतराष्ट्रीय योग दिवस हमारा आव्हान करता है।

भारत की इस श्रेष्ठ योग आधारित जीवन शैली और लोकाचार को इस चाइनीज़ वायरस के समय में प्रतिष्ठापित करने का अवसर भगवान् ने हमको दिया है। हम सभी जिस प्रकार का श्रेष्ठ भारत चाहते हैं उसका निर्माण स्वस्थ तन और स्वस्थ मन से युक्त समाज के निर्माण से ही संभव है,यह योग बिना संभव नहीं। इसके लिए संघ और विद्या भारती परिवार के लोग मिलकर कुटुंब प्रबोधन के अनेक कार्यो को कर रहे हैं समाज को आकर उन्हें देखना और उनसे जुड़ना चाहिए।

उन्होंने विश्वास व्यक्त किया की आने वाले समय में संघ परिवार के सभी लोग मिलाकर कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए अपनी तैयारी करने में लगेंगे विद्या भारती परिवार भी उसमे अपनी भूमिका तय करेगा।

अपने उद्बोधन के दौरान उन्होंने संकल्प योग के आठ आयाम संकल्प, जागरण, प्राणायाम, भ्रामरी, शिथिलिकरण, ख़ुशी के क्षण देखना, शुभकामना अभिव्यक्त करना, ध्यान लगाना तथा सभी का धन्यवाद करना आदि का अभ्यास भी श्रोताओं से करवाया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में प्रान्त मंत्री वीरेन्द्र कुमार शर्मा ने विद्या भारती का परिचय करवाते हुए बताया की विद्या भारती शिक्षा क्षेत्र में काम करने वाला देश का सबसे बड़ा गैर सरकारी संगठन है साथ ही विश्व में सबसे अधिक रजिस्टर्ड पूर्व छात्रों का पोर्टल भी विद्या भारती का ही है।

विद्या भारती का उद्देश्य राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत और वर्तमान चुनौतियों का सामना कर पाने वाले ऐसे युवक तैयार करना है जिनका जीवन दिन-दुखी,अभावग्रस्त लोगो को शोषण मुक्त और समरस-सुसंपन्न बनाने के लिए समर्पित हो।

कार्यक्रम का संचालन एवं परिचय संगठन मंत्री गोविन्द्कुमार ने किया। कार्यक्रम में प्रान्त अध्यक्ष रामप्रकाश बंसल भी सहित आभासी रूप से उपस्थित रहे। यूट्यूब पर 6000 से अधिक समाज-बंधू इस कार्यक्रम से जुड़े थे।