इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सकों द्वारा की जा रही जनता की सेवा सराहनीय : सर्वानंद सोनेवाल

जयपुर। इलेक्ट्रोहोम्योपैथी चिकित्सा परिषद जयपुर के तत्वावधान में विश्व इलेक्ट्रोपैथी दिवस पर आयोजित इलेक्ट्रोपैथी वेबीनार में देशभर के इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सक, छात्र शामिल हुए।

इस अवसर पर केंद्रीय आयुष मंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने कहा कि इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सक जो कार्य कर रहे हैं वह सराहना के योग्य है। भारत के प्रधानमंत्री भी भिन्न भिन्न प्रचलित चिकित्सा पद्धतियों का विकास चाहते हैं तथा उनका मानना है कि मॉडर्न मेडिसिन तथा आयुष पद्धतियां मिलकर लोगों के स्वास्थ्य रक्षण एवं पोषण का काम करें।

आयुष मंत्रालय इस कार्य में निरंतर सक्रिय है एवं देश तथा दुनिया में हमारे प्रयत्न के कारण आज आयुष को स्वीकारा जा रहा है। आयुष मंत्री जी ने कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता है कि इलेक्ट्रोपैथी से लंबे समय से चिकित्सा की जा रही है एवं लोग इससे लाभान्वित हो रहे हैं। राजस्थान में यह पद्धति मान्यता प्राप्त है हम केंद्र में भी इसके लिए प्रयत्न करेंगे।

कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे जयपुर के सांसद रामचरण बोहरा ने कहा की कोरोना काल में इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सकों ने इस पद्धति के द्वारा हजारों लोगों को सुरक्षित किया एवं उपचार भी किया। उन्होंने राजस्थान की तरह केंद्र में इस पद्धति को मान्यता देने का निवेदन किया और यह भी कहा कि ऐसा करने से जनता को सरल और सस्ती चिकित्सा पद्धति का लाभ मिलेगा।

राजसमंद सांसद दिया कुमारी ने अपने विचार रखते हुए बताया कि इलेक्ट्रोपैथी पूरी तरह से हर्बल होने के कारण सुरक्षित, सरल एवं उपयोगी है। हमें लोक स्वास्थ्य के लिए ऐसी पद्धतियों को बढ़ावा देना चाहिए। हर्बल को बढ़ावा देने से हर्बल पौधों जड़ी बूटियों की खेती भी बढ़ेगी जिससे किसानों को भी फायदा होगा। मैं संसद में भी इसके विषय को रखूंगी। आपने कहा मेरे संसदीय क्षेत्र में भी इसके प्रचार-प्रसार के कार्य करने का हम प्रयत्न करेंगे।

कार्यक्रम में बोलते हुए इलेक्ट्रोहोम्योपैथी चिकित्सा परिषद के अध्यक्ष हेमंत सेठिया ने इलेक्ट्रोपैथी दवाओं पर हो रहे रिसर्च कार्य पर प्रकाश डाला। सेठिया ने बताया कि इस पद्धति का प्रभाव सभी प्रकार के रोगों पर हैं। राजस्थान में इस पद्धति की विकास यात्रा पर भी प्रकाश डाला गया। मीडिया प्रभारी डॉ. संजय शर्मा ने बताया कि कार्यक्रम का संचालन श्वेता जैन ने किया।

इस कार्यक्रम में प्रताप भानु सिंह शेखावत ,गोविंद लाल सैनी एवं लूनेश मालवीय सहित अनेक इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सक उपस्थित रहे। वेदांत सेठिया के द्वारा इस कार्यक्रम में इलेक्ट्रोपैथी पर डॉक्यूमेंट्री प्रस्तुत की गई।