अजमेर : लॉकडाउन की आशंका से अवसाद में आई महिला ने की सुसाइड


अजमेर।
राजस्थान में अजमेर अलवर गेट थाना क्षेत्र में लॉकडाउन की आशंका से तनाव में आई एक महिला ने आत्महत्या कर ली। शहर में दिनभर आपाधापी का महौल बना रहा। मुख्य बाजारों में भीड के चलते कई जगह ट्रेफिक जाम की स्थिति बनी रही। पेट्रोल पंपों और बस स्टेंड पर लंबी कतारें देखी गई।

पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि भजनगंज क्षेत्र में रहने वाले सुंदर सिंह ने पुलिस को बताया कि वह नाश्ते का ठेला लगाकर गुजर बसर करता है। हाल ही में बेटी की शादी के संबंध में बातचीत को लेकर लॉकडाउन की आशंका और शादी में विध्न की आशंका से उसकी पत्नी ऊषा देवी (55) अवसाद में आ गई और उसने घर पर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पोस्टमार्टम के लिए जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय पहुंचाया।

इस बीच दो दिन के घोषित लॉकडाउन के बढने की आशंका के चलते लोगों ने आवश्यक खाद्य सामग्री का स्टाक करना शुरू कर दिया। मदार गेट, केसरग्ंज, कवंडसपुरा, प्लाजा सिनेमा में भीड के चलते बार बार जाम लगने की स्थिति बनती रही।

शहर में सुबह से ही पेट्रोल पंपों पर वाहनों की लंबी लंबी कतारे लगी रहीं। बस स्टेंड सामान्य से अधिक यात्रियों की भीड जुटने से बस स्टेंड प्रशासन के लिए व्यवस्था संभालना मुश्किल हो गया। लॉकडाउन बढने की आशंका के चलते लोग अपने गंत्व्य तक पहुंचने की जल्दबाजी में थे। टिकट विंडो पर भाडी भीड जमा रही।

कालाबाजारी करने वालों की पौ बारह

दो दिन के लाकडाउन के बढने की आशंका के चलते सुरा प्रेमियों और बीडी गुखटा खाने के शौकिन परेशान नजर आए। दुकानदारों की हॉलसेल मार्केट में भीड उमडने से बिक्री का ग्राफ बढ गया। सब्जी विक्रेताओं के ठेले से अपराहन तक लगभग सब कुछ बिक चुका था। बीडी, मसाला और गुटखा बेचने वालों ने अपना स्टाक समेट कर रख लिया। इससे अफरा तफरी का माहौल रहा। अचानक बीडी गुटखे के दाम आसमान छूने लगे।