पश्चिम बंगाल चुनाव बाद हिंसा मामले में 10 और मामले दर्ज

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो ने पश्चिम बंगाल चुनाव बाद हिंसा मामले में 11 अलग-अलग मामले दर्ज करने के ठीक अगले ही दिन 10 और मामले दर्ज किए तथा दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आधिकारिक वक्तव्य के मुताबिक इसके साथ ही इस मामले में अब तक कुल 21 प्राथमिकियां दर्ज की जा चुकी हैं। नादिया के छपरा में हुई घटना के सिलसिले में 25 अगस्त को सीबीआई की ओर से दर्ज मामले में 15 विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की तथा दो आरोपियों को गिरफ्तार किया।

नदिया जिले में हुई एक घटना में, स्थानीय लोगों की भीड़ दोपहर में पीड़ित के घर में घुस गई और उसके परिवार के सदस्यों को पीटना शुरू कर दिया। भीड़ लगातार उन्हें लाठियों और अन्य चीजों से पीट रही थी तथा बाद में उन्हें घसीटकर दूसरी जगह ले गए थे। पीड़ित जब बचाने के लिए दौड़ा तो उसके साथ भी मारपीट की गई।

ये मामले पहले पश्चिम बंगाल के विभिन्न थानों में विभिन्न आरोपों पर दर्ज किए गए थे। सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा कि कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा इन मामलों को अपने हाथ में लेने और मामले की जांच करने का निर्देश दिए जाने के बाद सीबीआई ने इन मामलों की जांच अपने हाथ में ले ली।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) द्वारा गठित एक समिति द्वारा हिंसा पर अपनी विस्तृत रिपोर्ट उच्च न्यायालय को सौंपे जाने के बाद न्यायालय ने सीबीआई को जांच के निर्देश दिए।