पश्चिम बंगाल में ट्रकों की हड़ताल से व्यापार हुआ ठप

Business stalled due to strike of trucks in West Bengal
Business stalled due to strike of trucks in West Bengal

कोलकाता/ सिलीगुड़ी | पश्चिम बंगाल में पुलिस प्रताड़ना और अवैध वसूली से नाराज़ 8,00,000 ट्रक चालकों ने चक्का जाम कर दिया है।

हड़ताल के कारण राजमार्गों पर ट्रकों का जाम लगा हुआ है। हड़ताल कर रहे ट्रक चालकों ने पुलिस पर बिना वजह परेशान करने और गैरकानूनी तरीके से वसूली करने के आरोप भी लगाये हैं। ट्रक चालकों की इन परेशानियों के अलावा कुछ अन्य मांगे भी हैं।

हड़ताल के कारण सीमावर्ती इलाके के देश नेपाल, बंगलादेश और भूटान में जाने वाली खाने-पीने की चीज़ें ट्रकों में ही ख़राब हो रही हैं।

पश्चिम बंगाल के ट्रक संगठन ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल पर जीएसटी लगने से नाराज़ होकर ट्रक चालकों ने हड़ताल की है।

राजमार्गों पर फंसे कुछ ट्रक चालकों ने कहा कि उन्हें हड़ताल की जानकारी पहले से नहीं थी और वे इसमें फंस गये जिससे उन्हें इस बारिश के सीजन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ट्रकों की हड़ताल अगर तत्काल खत्म नहीं हुई तो राजमार्गों पर खड़े ट्रकों में तेल और बैट्री ख़त्म हो जाएगी जिससे स्थिति और ज्यादा बिगड़ जाएगी।

कुछ ट्रक चालकों ने कहा कि वे हड़ताल में शामिल नहीं होना चाहते थे लेकिन उन्हें जबरदस्ती इसमें शामिल किया गया है। हड़ताल में जबरन शामिल किए गए ट्रक चालकों को प्रशासन से भी कोई मदद नहीं मिली है।