जब होली की आग से निकलते है पंडे

When pandey comes out of Holi's fire
When pandey comes out of Holi’s fire

सबगुरु न्यूज़, मथुरा : तीन लोक से न्यारी मथुरा नगरी के दो गावों में होली का प्रमुख आकर्षण होली की आग से पंडों का निकलना है। यह होली इतनी चमत्कारिक होती है कि इसे देखकर दर्शक दांतों तले उंगली दबाने लगते हैं। हकीकत यह है कि यह होली भक्त का भगवान के प्रति समर्पण का इम्तहान है। मथुरा के दो गावों जटवारी और फालेन में भगवान विष्णु की कृपा से इन पंडों के लिए होली की आग बर्फ सी शीतल बन जाती है।

सामान्यतया होली जलने का मुहूर्त पंडित लोग बताते हैं, लेकिन इन गावों में मुहूर्त पहले से नही बताया जाता एवं पूजन के समय ही पंडा होली में आग लगाने के लिए कहता है। पूर्व प्रधान डा0 रामहेत के अनुसार जटवारी एवं फालैन गांव छाता तहसील में हैं। दोनो गावों के बीच की दूरी 15 किलोमीटर से भी कम है। दोनो ही गावों में राष्ट्रीय राजमार्ग दो पर मथुरा एवं दिल्ली के बीच छाता होकर शेरगढ़ जाना होगा। वहां से इन दोनों गावों में पहुंचा जा सकता है।

दूसरा रास्ता कोसी होकर इन गांवो को जाता है। छाता होकर जाने में जहां जटवारी गांव पहले पड़ेगा वहीं कोसी होकर फालैन गांव पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इन गावों में प्रह्लाद कुंड में डुबकी लगाते ही होली से निकलने वाले पण्डों में भक्त प्रहलाद की तरह भगवान विष्णु की कृपा की वर्षा होने लगती है और इन पंडो को होली की आग बर्फ की तरह शीतल लगने लगती है। छाता तहसील के दो गांवों फालैन और जटवारी अपनी अनूठी होली के कारण मशहूर हैं यहां पर जिस प्रकार होली की आग से होकर अलग अलग समय में दो पंडे निकलते हैं वह भगवत कृपा का जीवन्त नमूना है।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो