लहसुन की खेती के दाम कम मिलने पर किसान ने जहर खाकर दी जान

लहसुन की खेती के दाम कम मिलने पर किसान ने जहर खाकर दी जान
लहसुन की खेती के दाम कम मिलने पर किसान ने जहर खाकर दी जान

कोटा | राजस्थान में कोटा के सांगोद थाना क्षेत्र में एक किसान ने लहसुन की फसल के मामूली दाम मिलने पर जहर खाकर जान दे दी।

क्षेत्र के डाबरी खुर्द गांव के बुजुर्ग किसान कय्यूम अली (55) ने पांच दिन पूर्व अपने खेत पर जहर का सेवन कर लिया था। तबीयत बिगड़ने पर उसे परिवारजनों ने कोटा के एमबीएस अस्पताल में भर्ती कराया जहां आज अल सुबह उसने दम तोड़ दिया। जिला मजिस्ट्रेट गौरव गोयल कल अस्पताल के दौरे पर गये थे,तब उन्हें भी कय्यूम अली के परिजनों ने इस बारे में अवगत करवाया था। उस समय मृतक का पुत्र अजीज वहां मौजूद था जिसने यह तो खुलासा नहीं किया कि उसके पिता ने जहर क्यों खाया, अलबत्ता इतना जरूर बताया कि उसके पिता ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर आठ बीघा जमीन बटाई पर लेकर लहसुन की खेती की थी, लेकिन लहसुन के भाव बहुत कम मिल पाये।

अजीज के अनुसार पांच दिन पहले उसके पिता खेत पर गये थे बाद में बेहोशी की हालत में पड़े मिले। बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। लेकिन प्रशासनिक तौर पर कोई इस बात की पुष्टि करने को तैयार नहीं है कि लहसुन की खेती के कारण कर्जे में डूबने से कय्यूम अली ने जहर खाकर अपनी जान दी है।