जिसने अंधेरा नहीं देखा वह रोशनी के महत्व को क्या जानें : मोदी

who did not see the darkness can not understand the meaning of light- Modi
who did not see the darkness can not understand the meaning of light- Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने आजादी के बाद से बिजली की सुविधा से वंचित 18000 गांवों में बिजली पहुंचाकर अपने वादे को पूरा करने के साथ साथ देश भर में बिजली वितरण प्रणाली में भी सुधार किया है।

मोदी ने गुरूवार को ‘प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना- सौभाग्य योजना’ के लाभार्थियों से वीडियो कांफ्रेंस के माध्‍यम से बातचीत की। इसमें वे लोग शामिल थे जिन्हें 2014 के बाद बिजली की सुविधा मुहैया कराई गई है।

पिछली सरकारों द्वारा बिजली के महत्व को नजरअंदाज किए जाने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अंधेरा नहीं देखा है, वे रोशनी के अर्थ को नहीं समझ सकते हैं, जिन लोगों ने अंधेरे में अपनी जिंदगी नहीं बिताई उन्हें प्रकाश के मूल्य का एहसास नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजग सरकार के सत्‍ता में आने के बाद से हजारों ग्रामों का विद्युतीकरण किया गया है। पिछली सरकार द्वारा किए गए झूठे वादों के विपरीत, वर्तमान सरकार ने हर गांव में विद्युतीकरण के अपने वादे को पूरा किया है और देशभर की वितरण प्रणाली में भी सुधार किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता के 70 वर्षों के बाद भी 18000 गांवों का विद्युतीकरण नहीं किया गया था अब इन सभी गांवों तक बिजली पहुंचा दी गयी है। पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में मणिपुर के लीसांग गांव का 28 अप्रेल 2018 को अंतिम गांव के तौर पर विद्युतीकरण किया गया।

उन्होंने कहा कि इतने बडी संख्या में गांवों का विद्युतीकरण करना थोड़ा मुश्किल था, क्‍योंकि इनमें से अधिकांश गांव दूर-दराज के इलाकों, पहाड़ी क्षेत्रों और खराब संपर्क वाले क्षेत्रों में थे लेकिन सभी कठिनाइयों के बावजूद लोगों की एक समर्पित टीम ने हर गांव में विद्युतीकरण का सपना साकार करने को सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी भारत में स्थिति बदल गई है इस क्षेत्र में 18,000 गांवों में से 14,582 गांव में बिजली नहीं थी। उन्होंने कहा कि सरकार ने पूर्वी भारत के विकास और इसके पूर्ण विद्युतीकरण को प्राथमिकता दीं और अब भारत का पूर्वी क्षेत्र भारत की विकास यात्रा में भी एक बड़ी भूमिका निभा सकता है।

मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना देश के हर घर में विद्युतीकरण के उद्देश्य से प्रारंभ की गई है और अब तक इस योजना के माध्यम से 86 लाख से अधिक परिवारों को विद्युतीकृत किया जा चुका है। योजना मिशन मोड पर है और यह चार करोड़ परिवारों के लिए बिजली कनेक्शन सुनिश्चित करेगी।

बातचीत के दौरान दूर-दराज के गांवों के लाभार्थियों ने बताया कि बिजली ने हमेशा के लिए उनके जीवन को बदल दिया है। सूर्यास्त से पहले अपना कार्य पूरा करने वाले लोगों और लालटेन के माध्‍यम से अध्‍ययन के लिए मजबूर बच्चों के जीवन को विद्युतीकरण ने बहुत आसान बना दिया है। अधिकांश लाभार्थियों ने कहा कि उनके जीवन स्‍तर में काफी सुधार आया है।

विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रधानमंत्री की बातचीत की यह 10वीं श्रृंखला थी।